बोकारो : माराफारी पुलिस बोकारो अंचल के कर पदाधिकारी नरेंद्र सिंह की शिकायत पर फर्जी पते पर जीएसटी का पंजीयन कराने वाले सर्वश्री तान्या इंटरप्राइजेज के प्रोपराइटर प्रीयंका लाहा के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की है। दर्ज रिपोर्ट में शिकायतकर्ता ने बताया है कि आरोपित ने माराफारी थाना इलाके के सिवनडीह का फर्जी पता देकर जीएसटी का रजिस्ट्रेशन कराया। आठ करोड़ 40 लाख रुपये का टैक्स बकाया था। जांच करने पर पता फर्जी निकला। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। बता दें कि बीते एक हफ्ते के अंदर फर्जी पते पर जीएसटी नंबर लेने का यह तीसरा मामला थाने में दर्ज हुआ है। इसके पहले चास में 12 करोड़ तो सेक्टर बारह थाने में 12 लाख रुपये जीएसटी हड़पने का मामला दर्ज हो चुका है।

चास पुलिस बीते 29 नवंबर को राज्य कर पदाधिकारी विनोद कुमार मिज की शिकायत पर पी एस इंटरप्राइजेज के मालिक राकेश के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप की प्राथमिकी दर्ज की थी। दर्ज रिपोर्ट में शिकायतकर्ता ने बताया था कि आरोपित कंपनी के मालिक ने अपनी कंपनी का पता मेन रोड का जीएसटी रजिस्ट्रेशन के समय दिया। अपने पते में कंपनी की ओर से नगर ब्लाक म्यूनिसिपल मेन रोड चास लिखा मिला। वर्ष 2018 से कंपनी ने काम करना शुरू किया। जब राज्य व केंद्र से संबंधित कर कंपनी की ओर बकाया रखा गया तो जांच शुरू हुई। कंपनी की ओर से दिया गया पता फर्जी निकला। इस पते पर जानकारी जुटाने के बाद कोई नहीं मिली। कंपनी ने कुल 12 करोड़ रुपये का चुना सरकार को लगाया। इसके पहले 27 नवंबर को सेक्टर बारह पुलिस राज्य कर पदाधिकारी नरेंद्र कुमार की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की थी। दर्ज रिपोर्ट में शिकायतकर्ता ने बताया था कि बारी को-ऑपरेटिव कॉलोनी का पता देकर अशोक राणा ने अपनी कंपनी के जीएसटी का रजिस्ट्रेशन कराया। बारह लाख रुपये बकाया होने पर जांच की गई तो पता फर्जी निकला। जिस ईमेल आइडी का प्रयोग रजिस्ट्रेशन के लिए किया गया था वह भी फर्जी निकला। पुलिस दोनों मामलों की जांच में जुटी हुई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस