संस, सुरही (बेरमो) बैंकिग उद्योग के दो सबसे बड़े कर्मचारी सगंठन आल इंडिया बैंक इंप्लाइज एसोसिएशन (एआईबीईए) एवं बैंक इंप्लाइज फेडरेशन आफ इंडिया (बीईएफआई) के संयुक्त आह्वान पर मंगलवार को राष्ट्रव्यापी हड़ताल में सभी बैंक कर्मचारी एवं बेरमो क्षेत्र के करीब सभी बैंकों में ताला लटका रहा है। परिणाम स्वरूप सभी बैंकिग कार्य पूरी तरह से ठप रहा। सरकारी बैंकों के साथ-साथ कुछ निजी बैंक भी हड़ताल पर थे। हड़ताल की वजह से बैंक में आए लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। यूनियन के सदस्य बैंकों के सामने पोस्टर टांग नारेबाजी कर रहे थे। मौके पर यूनियन के वक्ताओं ने हड़ताल की सफलता पर बैंककर्मियों को बधाई देते हुए कहा कि एक दिवसीय हड़ताल से जहां बैंककर्मियों ने अपने चट्टानी एकता का परिचय दिया वहीं भारत सरकार को यह चेतावनी भी दी गई की अगर संगठन की मांगों पर विचार नहीं किया गया तो यह लड़ाई और तेज होगी। जिसकी सारी जिम्मेदारी भारत सरकार की होगी। हड़ताल की मुख्य मांगे बैंको का विलय रोकना, जन विरोधी बैंकिग सुधारों को रोकना, खराब ऋण की वसूली सुनिश्चित करना, ग्राहकों को बेवजह शुल्क लगा कर परेशान करना सहित अन्य मांगे हैं। भारत की वर्तमान सरकार बैंकिग व्यवस्था पर जबरन जनविरोधी नीतियों को लागू करना चाह रहा है जो सगंठन बर्दाश्त नहीं करेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस