जागरण संवाददाता, ऊधमपुर : झुलसाने और जलाने वाली गर्मी से राहत देने वाली बारिश की बूंदें शनिवार की रात खूब बरसीं। इससे रात तो सुकून से कट ही गई, दोपहर को भी झुलसाने वाली गर्मी से राहत मिली। हालांकि दोपहर बाद गर्मी ने अपना कुछ अहसास जरूर करवाया, मगर कुल मिलाकर दिन राहत भरा रहा। वहीं, जिले में बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हुई, जिससे पंचैरी, बसंतगढ़ सहित अन्य इलाकों में फलदार और सब्जी की फसलों को नुकसान होने की खबरें भी मिली हैं।

बारिश और ओलावृष्टि के कारण रात सुकून से कटी और दिन में भी गर्मी ने कुछ खास परेशान नहीं किया। हालांकि दोपहर बाद कुछ हद तक गर्मी ने अपना अहसास जरूर करवाया। इसके बावजूद दिनभर मौसम से राहत मिली रही। हालांकि बीच में कई बार बिजली के कट भी लगे, मगर मौसम से मिली राहत के कारण कट के बावजूद कुछ दिन पहले की तरह लोग बेहाल नहीं हुए।

एक ओर जहां मौसम ने गर्मी से राहत दी, वहीं ओलावृष्टि से फलदार और सब्जी की फसलों को नुकसान भी हुआ है। मुख्य बागवानी अधिकारी सलिल गुप्ता के मुताबिक पंचैरी के दमनोत इलाके में तथा डुडु बसंतगढ़ सहित जिले में लगे कई फलदार फसलों को नुकसान पहुंचा है। नुकसान कितना हुआ है, इसके लिए फील्ड स्टाफ को आकलन कर रिपोर्ट भेजने को कहा गया है।

वहीं, मुख्य कृषि अधिकारी सुभाष शर्मा ने कहा कि बारिश कृषि फसलों के लिए काफी अच्छी है। पहाड़ी इलाकों में मक्की की फसल लग चुकी है और धान की रोपाई होने के है। बारिश से निचले इलाकों में फसलें लगाने के लिए पर्याप्त नमी बन गई है और यह फसलों को लगाने के लिए अच्छी है। उन्होंने कहा कि चिनैनी सहित कुछ अन्य इलाकों में ओलावृष्टि से सब्जियों की फसलों को नुकसान हुआ है, मगर अभी नुकसान के आंकड़े नहीं आए हैं।

Edited By: Jagran