संवाद सहयोगी, पौनी : धार्मिक तीर्थ स्थल रनसू शिवखोड़ी में बारिश होने के बाद शिवगंगा का जलस्तर बढ़ना शुरू हो गया है। अब क्षेत्र के किसानों को सिचाई करने के लिए पानी की किल्लत का सामना नहीं करना पड़ेगा। रनसू के साथ लगते गांव में इन दिनों कई किसानों द्वारा मक्की और धान की फसलें लगवाई हैं। रनसू के ज्यादातर किसान शिवगंगा के पानी से अपने खेतों में सिचाई करते हैं। फसल की बिजाई करने के बाद किसान फसलों की अच्छी पैदावार पाते हैं। किसानों का कहना है कि पिछले दिनों तापमान बढ़ने के बाद क्षेत्र के किसान खेतों में सिचाई के लिए पानी नहीं मिलने से काफी परेशान थे। गांव सनाडियां, कोटला, कला, व त्योट पंचायत के करीब पांच हजार किसान शिवगंगा के साथ जुड़ी नहर के पानी की सप्लाई पर निर्भर हैं। गर्मियों में शिवगंगा का जलस्तर कम होने पर किसानों को सप्लाई नहीं मिल रही थी। बारिश होने के बाद कई किसान बारिश के पानी से फसल की बिजाई कर चुके हैं। अब किसानों खासकर धान की फसल को सिचाई के लिए मिलने वाली पानी की सप्लाई का इंतजार नहीं करना पड़ेगा, क्योंकि शिवगंगा का जलस्तर बढ़ने के बाद नहर के जरिए किसानों के खेतों में पानी पहुंचना शुरू हो गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस