जागरण संवाददाता, ऊधमपुर: साल 2010 के बाद पैदा हुए सभी लोग सौ वर्षों से अधिक सालों तक जीवित रहने वाले हैं। हम विज्ञान में अकल्पनीय बदलावों को देखने जा रहे हैं, जब मनुष्यों को राजमार्गों पर कार चलाने की अनुमति नहीं होगी। यह विचार प्रख्यात शिक्षाविद एवं दिल्ली विश्वविद्यालय के फिजिक्स एवं एस्ट्रोफिजिक्स विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर आरपी टंडन ने सरकारी डिग्री कॉलेज उधमपुर में मंगलवार को व्यक्त किए। वे यहां पर आयोजित एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी में बोल रहे थे।

सरकारी डिग्री कॉलेज में आयोजित टेक्नोलॉजी, ट्रेडीशन, हेरीटेज एंड कल्चर विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार में उन्होंने कहा कि विज्ञान जादू है और निकट भविष्य में सब कुछ संभव होने जा रहा है। प्रो. टंडन ने कहा कि भविष्य में गैर जैविक बुद्धि से अधिक सक्षम हो जाएगी। साथ ही उन्होंने चेताते हुए कहा कि यह स्थिति एक भयानक परि²श्य पेश करेगी। उन्होंने इस संगोष्ठी आयोजन के लिए कॉलेज प्रशासन की सराहना की। इससे पहले दीप प्रज्ज्वलित करने के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ, जिसके बाद प्रसिद्ध भेंट गायक गुलाम मोहम्मद के पुत्रों डंसाली बंधुओं ने माता के मधुर भजन सुनाए। इसके बाद कॉलेज के प्रिसिपल डॉ. नूतन कुमार रेसूत्रा ने सेमिनार में आए सभी मेहमानों का स्वागत अपने भाषण के साथ किया। उन्होंने मुख्य मेहमान प्रो. अशोक शर्मा की उपलब्धियों से भी सभी को अवगत कराया।

संगोष्ठी के उद्घाटन सत्र में प्रोफेसर डीसीआर यूनिवर्सिटी ऑफ सांइस एंड टेक्नोलॉजी सोनीपत के मैटिरियल साइंस एंड नैनो टेक्नोलॉजी विभाग के चेयरमैन प्रो. अशोक शर्मा, इंदौर विश्वविद्यालाय के राष्ट्रीय समन्यवयक प्रो. प्रकाश गढ़वाल, जम्मू यूनिवर्सिटी की एनएसएस समन्वयक डॉ. विश्व रक्षा के अलावा डॉ, गरिमा गुप्ता, डॉ. शशि पठानिया ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर डॉ. रिपी बावा, डॉ. कमलदीप कौर, डॉ. उदय भानू, डॉ. भवनीश चंद, प्रो बीएल थौर, प्रो. रोमेश कुमार अत्री, प्रो. सुरेश कुमार डोगरा, डॉ. अनिल खजूरिया, एचओडी जूलॉजी, डॉ. वेद कुमार, एचओडी केमिस्ट्री, प्रो. नरेश शर्मा, एचओडी इंग्लिश, डॉ. विपुल चलोत्रा सहित अन्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप