संवाद सहयोगी, किश्तवाड़:किश्तवाड़ से लेकर गुलाबगढ़ तक सड़क की हालत बहुत जगहों पर ऐसी है कि यहां पर गाड़ी चलाना खतरे से खाली नहीं और दुर्घटना होने का भी डर रहता है। ऐसे मे कुछ दिनों बाद यात्राएं शुरू हो रही है। अगर सड़क की हालत ऐसी ही रहती है तो यह सड़क यात्रियों की राह में रोड़ा बनकर सामने रहेगी।

किश्तवाड़ से लेकर गुलाबगढ़ तक 65 किलोमीटर सड़क का निर्माण 118 आरसीसी ग्रेफ के पास है। उससे आगे भी आरसीसी ही काम कर रही है। हालांकि सड़कों को सुधारने में 118 आरसीसी ने काफी मेहनत की है, लेकिन जहां पर रोड खराब है वहां पर इनका ध्यान नहीं जाता। किश्तवाड़ कुलीद चौक से लेकर 3 किलोमीटर आगे तक सड़क की खस्ता हालत है। उसके बाद गलहार तक सड़क पर तारकोल बिछा दी गई है, लेकिन गलहार से लेकर आगे दस किलोमीटर तक सड़क को चौड़ा करने का काम पिछले इन 4 सालों से चल रहा है, लेकिन इस 10 किलोमीटर लुदरैडी़ तक सड़क पर गाड़ी चलाना ऐसे है कि जैसे आप किसी नदी नाले में गाड़ी चला रहे हो। यहां पर बहुत सारी गाड़ियों का आते-जाते नुकसान भी होता रहता है। लोग जान जोखिम में डालकर इस इलाके का सफर तय करते हैं। और कई दुर्घटनाएं भी होती रहती है।

25 मई से मिधंल यात्रा का पहला जत्था यहां से गुजरेगा और उसके बाद तीन चार जत्थे मिधल माता के लिए जाएंगे। उसके बाद एक जुलाई से माता सिंहासिनी की चिटो यात्रा शुरू हो जाएगी और 25 जुलाई से मचेल यात्रा, लेकिन इस सड़क की तरफ ना तो प्रशासन का कोई ध्यान है और न ही 118 आरसीसी ग्रेफ का। अगर यही हालत रहती है तो यात्राओं पर जाने वाले यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, सिर्फ इतना ही नहीं करथाइ के आगे भी सड़क बुरी तरह से खराब है। इस बारे में जब भी ग्रीफ के अधिकारियों से बात होती है तो उनका कहना था कि हमारे पास जिस जगह की एलॉटमेंट हमारे ऊपर बैठे अधिकारी देते हैं, हम उतना ही काम कर पाते हैं। इस सड़क के लिए हमने अपने आला अधिकारियों को सूचित कर दिया है। न जाने किन कारणों की वजह से हमें खराब सड़क को सुधारने की एलॉटमेंट नहीं मिल पा रही है। डीसी किश्तवाड़ का कहना था कि हमने ग्रेफ को इस सड़क को सुधारने के लिए चिट्ठी लिखी है और डिविजनल कमिश्नर ने भी इन हिदायत दी गई है। हमें उम्मीद है कि यात्राओं से पहले पहले इस सड़क का सुधार हो जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप