जागरण संवाददाता, ऊधमपुर : अनिश्चित कालीन कामछोड़ हड़ताल पर गई सफाई कर्मचारी यूनियन ने बुधवार को कामछोड़ हड़ताल के दूसरे दिन भी अपना प्रदर्शन जारी रखा। बुधवार को कर्मचारियों के समर्थन में अखिल भारतीय सफाई कर्मचारी संघ के यूटी प्रधान लक्की चीदा ऊधमपुर पहुंचे। वहीं, सफाई कर्मचारियों की हड़ताल से शहर में कचरा फैलना शुरू हो गया।

बुधवार को अखिल भारतीय सफाई मजदूर संघ के बैनर तले सफाई कर्मचारियों ने अपना रोष प्रदर्शन जारी रखा और मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। वहीं, बुधवार को आंदोलन का समर्थन करने पर सफाई कर्मचारियों का उत्साह बढ़ाने के लिए अखिल भारतीय सफाई मजदूर संघ के यूटी प्रदेश अध्यक्ष लक्की चीदा ऊधमपुर में जारी आंदोलन में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि हर बार सरकार और विभाग के आला अधिकारी सफाई कर्मचारियों को मांगें जल्द पूरी करने के झूठे आश्वासन देकर गुमराह करते हैं, मगर उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता। इससे मजबूरन सफाई कर्मचारियों को धरना-प्रदर्शन और कामछोड़ हड़ताल का रास्ता अपनाना पड़ता है। हर बार आंदोलन करने पर सरकार गुमराह कर अपना काम निकाल लेती है, मगर इस बार की लड़ाई आर-पार की है। मांगों को मंजूर न कर लेने तक आंदोलन जारी रहेगा।

इस अवसर पर सफाई कर्मचारी यूनियन के उपजिला प्रधान डेविड संधू ने कहा कि पहले नगर परिषद के सिर्फ 17 वार्ड थे, जो अब बढ़कर 21 हो गए हैं। नए सफाई कर्मचारियों की नियुक्ति नहीं की जा रही, जिससे एक सफाई कर्मचारी को दो से तीन वार्डो में सफाई करनी पड़ती है। इसलिए जिन अस्थायी कर्मचारियों का सात वर्ष का कार्यकाल पूरा हो चुका है, उन्हे स्थायी किया जाए। इसके साथ ही एसआरओ 43 का लाभ दिया जाए, मिनीमम वेजिज एक्ट लागू किया जाए और पुरानी पेंशन योजना को लागू करने से सहित सभी मांगों को पूरा किया जाए।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021