संवाद सहयोगी, कटड़ा : पल-पल बदल रहे मौसम के बावजूद मा वैष्णो देवी की यात्रा पूरी तरह से सुचारु है। श्रद्धालु अपने स्वजनों के साथ लगातार भवन की ओर प्रस्थान कर मा वैष्णो देवी के चरणों में हाजिरी लगाकर परिवार की सुख शाति की कामना कर रहे हैं। वीरवार शाम चार बजे तक करीब 8000 श्रद्धालु भवन की ओर रवाना हो चुके थे।

मा वैष्णो देवी यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को कभी हल्की बारिश तो कभी ठंडी हवा तो कभी तीखी धूप का सामना करना पड़ रहा है। वीरवार दोपहर तक श्रद्धालुओं को धूप परेशान करती रही, उसके बाद अचानक आसमान व त्रिकूटा पर्वत पर बादलों का जमघट लग गया और ठंडी हवा चलने लगी। इसके कारण हेलीकॉप्टर सेवा बीच-बीच में प्रभावित रही, लेकिन बैटरी कार और भ्वन से चलने वाली पैसेंजर केबल कार सेवा सुचारु रही। रात में मा वैष्णो देवी के भवन की ओर रवाना हो चुके श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी नहीं हुई, क्योंकि मा वैष्णो देवी के पारंपरिक मार्ग के साथ ही बैटरी कार मार्ग सुचारु रहे।

कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होते ही देशभर से मां वैष्णो देवी के दर्शन के लिए आधार शिविर कटड़ा पहुंचने वाले श्रद्धालुओं में बढ़ोतरी हो रही है।

21 जुलाई को कुल 16806 श्रद्धालुओं ने मा वैष्णो देवी के चरणों में हाजिरी लगाई थी। वहीं 22 जुलाई शाम चार बजे तक करीब 8000 श्रद्धालु भवन की ओर प्रस्थान कर चुके थे। श्रद्धालु मा वैष्णो देवी की अलौकिक दर्शन करने के बाद पैसेंजर केबल कार में सवार होकर भैरो घाटी पहुंचकर बाबा भैरो नाथ के चरणों में नतमस्तक होकर अपनी वैष्णो देवी यात्रा पूर्ण कर रहे हैं।