जागरण संवाददाता, ऊधमपुर : घुटना बदलने के आपरेशन पर लाखों रुपये खर्च होते हैं, मगर आयुष्मान कार्ड का लाभ उठाते हुए जिले के एक और व्यक्ति ने अपना घुटना बदलवाने का आपरेशन जिला अस्पताल ऊधमपुर में निश्शुल्क करवाया। घुटना बदलने का आपरेशन सफल रहा और मरीज ने 24 घंटे में चलना भी शुरू कर दिया।

पंचैरी निवासी सुरिंद्र सिंह (39) पिछले 12 वर्षो से घुटने में दर्द की वजह से परेशान था। कुछ माह पहले पंचैरी की ही रहने वाली एक महिला गोदावरी देवी के घुटने के सफल आपरेशन की जानकारी के बाद उसने भी ऊधमपुर जिला अस्पताल में घुटने की जांच करवाई, जिसमें 12 वर्ष पहले एक चोट का सही उपचार न होने की वजह से घुटना खराब होने की जानकारी हुई। सुरिद्र सिंह ने बताया कि वह दिहाड़ीदार मजदूर है। लाखों रुपये खर्च कर उपचार करवाना उसके लिए संभव नहीं था, मगर उसके इलाके में भी महिला के घुटने का आपरेशन निश्शुल्क हुआ तो उसने भी आयुष्मान कार्ड से अपना आपरेशन निश्शुल्क करवा लिया।

अस्पताल में जांच के बाद सुरिद्र सिंह को उपचार के लिए भर्ती किया गया। उसके बाद हड्डी रोग विशेषज्ञ डा. बलविद्र सिंह ने 12 वर्ष से घुटने के दर्द से परेशान सुरिद्र सिंह का सफल आपरेशन कर दिया। आपरेशन करने वाली उनकी टीम में एनेस्थेटिक डा. ज्योति, थियेटर असिस्टेंड राजेंद्र व अन्य शामिल थे। डा. बलविद्र ने बताया कि मरीज को 12 वर्ष पहले घुटने में चोट लगी थी। उसका सही से उपचार न करवाने और स्थानीय स्तर देसी उपचार करवाने से घुटना खराब हो गया। इसका उपचार घुटना बदलना ही था। निजी अस्पताल में इस आपरेशन का खर्च तीन लाख के करीब बैठता, मगर जिला अस्पताल ऊधमपुर में मरीज को आयुष्मान भारत कार्ड का लाभ देते हुए घुटना बदलने का उसका आपरेशन निश्शुल्क किया गया है। उन्होंने बताया कि आपरेशन पूरी तरह से सफल रहा है। उन्होंने बताया कि आपरेशन के 24 घटों में ही मरीज चलने लायक हो गया है। कंधे, कूल्हे और घुटनों के आर्थोस्कोपिक सर्जरी करने के विशेषज्ञ डा. बलविद्र जिला अस्पताल में कई लोगों की आर्थोस्कोपिक सर्जरी कर चुके हैं।

Edited By: Jagran