बलवीर सिंह जम्वाल, किश्तवाड़

'मिशन किश्तवाड़' ने आतंकियों और उनके समर्थकों में खलबली मचा दी है। किश्तवाड़ शहर के चार किलोमीटर के दायरे में छिपे आतंकियों और उनके मददगारों की धरपकड़ के लिए सेना और पुलिस के संयुक्त अभियान के दौरान शुक्रवार को ड्रोन का भी इस्तेमाल किया गया। यह ड्रोन सुबह से लेकर दोपहर तक शहर में मंडराता रहा। पिछले दो दिन में सुरक्षाबल 36 आतंकी मददगारों को पकड़ चुके हैं। इनसे पूछताछ जारी है।

इसके अलावा शहर में 36 सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जा रहे हैं। सुरक्षाबलों ने आतंकियों को दबोचने के लिए अलग-अलग जगहों पर ड्रोन छोड़े हैं ताकि कोई सुराग हाथ लगे तो तुरंत कार्रवाई की जा सके। ड्रोन की ऊंचाई इतनी अधिक थी कि आसानी से किसी को नजर नहीं आ रहा था। ड्रोन ने कई इलाकों के ऊपर चक्कर लगाए, लेकिन किसी को पता नहीं चल पाया कि इसे किस एजेंसियों ने छोड़ा है।

इस बीच शुक्रवार को फिर कुछ अलगाववादियों ने किश्तवाड़ बंद की कॉल दी, लेकिन कुछ दुकानों को छोड़ बाकी दुकानें खुली रहीं। सामान्य दिनों की तरह बाजार में चहल पहल रही। प्रशासन ने हिदायत दी थी कि कोई दुकान बंद नहीं रहेगी, नहीं तो कार्रवाई की जाएगी। पुलिस अधिकारियों ने जब अलगाववादी गुटों और अन्य लोगों से बंद के बारे में पूछा तो सबने कहा कि हमारी तरफ से कोई बंद की कॉल नहीं दी गई थी।

गौरतलब है कि गत शुक्रवार को पीडीपी नेता शेख नासिर हुसैन के घर में घुसकर उनके अंगरक्षक की राइफल छीनने के बाद सुरक्षाबलों ने आतंकियों को दबोचने के लिए पूरी तरह चौकन्ना हो गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस