जागरण संवाददाता, ऊधमपुर : जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर रामबन में बुधवार सुबह पहाड़ी से हुए भूस्खलन में एक मानसिक रूप से बीमार व्यक्ति दब गया। पत्थरों के नीचे व्यक्ति के दबने की किसी को जानकारी नहीं मिली। तभी सीआरपीएफ की 72 बटालियन का एक दल हाईवे पर जाच कर रहा था। दल के साथ खोजी कुत्ता अजाक्सी भी था। सीआरपीएफ का दल जब वहां से गुजरा तो अजाक्सी भौंकने लगा। वह अपने ट्रेनर को जबरदस्ती सड़क के दूसरे किनारे की ओर ले गया। वहा पर पत्थरीली मि˜ी और कंकरीट का ढेर लगा था। जवानों ने सोचा कि वहां कोई आइईडी जैसा विस्फोटक दबा है। जवानों ने अपने उपकरणों से जाच की, लेकिन वहा कुछ नहीं मिला, लेकिन अजाक्सी वहा से जाने को तैयार नहीं था। जवानों ने खुदाई की तो व्यक्ति का सिर दिखा। उसके बाद चारों ओर से खुदाई शुरू की गई। इसी बीच, सेना की राष्ट्रीय राइफल के जवान भी पहुंच गए। सभी ने मिलकर व्यक्ति को जिदा बाहर निकाला। बाद में पता चला कि उसका नाम प्रदीप कुमार है, वह निकटवर्ती गाव लुढवाल का रहने वाला है और मानसिक रूप से बीमार है। उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस