जागरण संवाददाता, ऊधमपुर : रोजगार नीति बना कर मनरेगा कर्मचारियों में भविष्य को लेकर बनी अनिश्चित को समाप्त करने की मांग को लेकर आल मनरेगा इंप्लाइज एसोसिएशन ने बुधवार को दूसरे दिन भी अपना आंदोलन जारी रखा।

एसोसिएशन के सचिन गुप्ता के नेतृत्व में मनरेगा कर्मचारियों ने रोजगार नीति बनाने की मांगो के समर्थन में नारेबाजी की। कर्मचारियों ने कहा कि मनरेगा के तहत कर्मचारी 1 से 15 साल से अपनी सेवाएं दे रहे हैं, मगर कब उनको निकाल दिया जाए यह भय हर दिन बना रहता है। क्योंकि उनके लिए कोई रोजगार नीति ही नहीं बनाई गई है।

उन्होंने कहा कि जीवन का लंबा अर्सा उन्होंने विभाग को दिया है। ऐसे में मनरेगा कर्मचारियों के लिए भी रोजगार की नीति होना चाहिए। जिसके तहत अन्य विभागों में लगने वाले कर्मचारियों की तरह उनको भी नियमित करने की व्यवस्था की जाए, जिससे की मनरेगा कर्मचारियों में बने अनिश्चिता की स्थिति समाप्त हो जाए। एसोसिएशन ने राज्यपाल से उनकी इस जायज मांग को मंजूर कर जल्द ठोस कदम उठाने की अपील की है।

By Jagran