राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : सुरक्षाबलों ने बुधवार को दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में हिजबुल मुजाहिदीन को एक बड़ा झटका देते हुए उसके स्वयंभू डिवीजनल कमांडर अल्ताफ अहमद डार उर्फ काचरू व उसके साथी उमर गनई को मार गिराया। मुठभेड़ के दौरान दो मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए। इस बीच, आतंकियों की मौत से उत्तेजित राष्ट्रविरोधी तत्वों और सुरक्षाबलों के बीच हुई ¨हसक झड़पों में करीब 70 लोग जख्मी हो गए। घायलों में पांच सुरक्षाकर्मी भी हैं। स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने अनंतनाग व कुलगाम के विभिन्न हिस्सों में निषेधाज्ञा लागू करने के साथ मोबाइल इंटरनेट सेवा व बनिहाल-श्रीनगर रेल सेवा भी अगले आदेश तक बंद कर दी है।

मारे गए आतंकी कमांडर अल्ताफ काचरू पर 15 लाख का इनाम था। डबल ए श्रेणी के आतंकियों में शुमार काचरू कश्मीर में सक्रिय सबसे पुराने और मोस्ट वांटेड आतंकियों में एक था। वह वर्ष 2007 में भी पकड़ा गया था। उसके साथ मारा गया दूसरा आतंकी उमर खुर्शीद बीते साल ही हिज्ब में शामिल हुआ था। वह खुडवनी (कुलगाम) का रहने वाला था।

काचरू और खुर्शीद दोनों के अनंतनाग के मुनीवार्ड गांव में छिपे होने की सूचना मिलते ही बुधवार तड़के सेना की एक आरआर, राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल और सीआरपीएफ के जवानों ने घेराबंदी कर ली। सुबह पांच बजे जैसे ही जवानों ने आतंकी ठिकाना बने मकान की तरफ कदम बढ़ाए, वहां छिपे आतंकियों ने उन पर फायर कर दिया। जवानों ने भी जवाबी फायर किया। करीब एक घंटे बाद आतंकियों की तरफ से पहली बार गोलियां चलना बंद हुई। दस मिनट बाद जब जवान मकान में दाखिल होने लगे तो दोबारा फाय¨रग शुरू हो गई। इसके बाद साढ़े सात बजे तक कुछ देर के लिए मुठभेड़स्थल पर खामोशी रही। साढ़े नौ बजे के करीब मुठभेड़ पूरी तरह समाप्त हुई। इस दौरान आतंकी ठिकाना बने दो मकान पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। मकानों का मलबा हटाए जाने पर सुरक्षाबलों को आग में बुरी तरह झुलस चुके दो आतंकियों के शव व उनके हथियार मिले।

इस बीच, मुठभेड़ की खबर के साथ ही अनंतनाग, खन्नाबल, खुडवनी, कुलगाम, अरवनी, रेडवनी व उनके साथ सटे इलाकों में आतंकी समर्थक तत्व भी भड़काऊ नारेबाजी करते हुए सड़कों पर निकल आए। बहुत से लोगों ने मुठभेड़स्थल की तरफ कूच कर दिया और सुरक्षाबलों पर पथराव बरसाने लगे। आतंकियों की गोलियों का जवाब देने के साथ ही सुरक्षाबलों ने लाठियों, आंसूगैस और पैलेट का सहारा लिया। देर शाम तक ¨हसक झड़पों में 70 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए। पांच घायलों को पैलेट गन से चोट पहुंची है।

Posted By: Jagran