राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : उत्तरी कश्मीर के बांडीपोरा के दानी बहक इलाके में शनिवार को सुरक्षाबलों ने एक भीषण मुठभेड़ में लश्कर के तीन आतंकियों को मार गिराया। इस दौरान एक सैन्यकर्मी भी शहीद हो गया। इसके साथ ही बांडीपोर के जंगल में छिपे आतंकियों को मार गिराने के लिए चलाया गया तलाशी अभियान लगभग एक सप्ताह बाद समाप्त हो गया। इस अभियान में दो सैन्यकर्मी भी घायल हुए थे। मारे गए आतंकियों की पहचान नहीं हो पाई है, लेकिन उनके पाकिस्तानी होने की संभावना जताई जा रही है। शहीद की पहचान 31 आरआर के राइफलमैन शिवकुमार के रूप में हुई है।

बांडीपोर के ऊपरी क्षेत्र छन्न दाजी और दानी बहक इलाके में गत रविवार को स्वचालित हथियारों से लैस आतंकियों को देखे जाने पर सेना की 31 आरआर व 27 आरआर के जवानों ने तलाशी अभियान चलाया था। यह इलाका नियंत्रण रेखा और वादी के भीतरी इलाकों के लिए एक कारीडोर का भी काम करता है। गत शुक्रवार को जंगल में छिपे आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में दो जवान घायल हो गए थे। इसके बाद आतंकी बच निकले थे। सुरक्षाबलों ने आतंकियों का पीछा जारी रखा और शनिवार सुबह 11 बजे उन्हें फिर घेर लिया। इस दौरान राइफलमैन शिवकुमार जख्मी हो गए। उन्हें अस्पताल पहुंचाने का बंदोबस्त करते हुए अन्य जवानों ने जवाबी कार्रवाई की। शाम करीब चार बजे तीन आतंकियों के मारे जाने के साथ ही मुठभेड़ समाप्त हो गई। इस बीच, अस्पताल में उपचाराधीन शिव कुमार ने भी दम तोड़ दिया।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने दानी बहक में लश्कर के तीन आतंकियों के मारे जाने व एक सैन्यकर्मी की शहादत की पुष्टि करते हुए बताया कि मुठभेड़स्थल से भारी मात्रा में हथियार व अन्य साजो सामान भी मिला है।

--------------------

Posted By: Jagran