राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : कश्मीर में बुधवार को भी अलगाववादियों और जिहादियों के जबरन लागू कराए जा रहे बंद को ठेंगा दिखाते हुए श्रीनगर समेत कश्मीर के प्रमुख शहरों और कस्बों में सामान्य जनजीवन बहाल होता नजर आया। सड़कों पर सुबह से शाम तक वाहनों की कतारें नजर आई। सरकारी कार्यालय खुले। सभी प्रमुख बाजार दिनभर बंद रहे। रेहड़ी-फड़ी और फुटपाथ पर सामान बेचने वालों व उनके पास जुटे खरीदारों की भीड़ ने कहीं भी बंद दुकानों का अहसास नहीं होने दिया। इसी बीच, प्रशासन ने पूरी वादी में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त रखे हैं।

प्रशासन ने दो अगस्त को पर्यटकों के लिए जारी ट्रैवल एडवाइजरी को सुधरते हालात के मददेनजर वापस ले लिया है। अब प्रशासनिक पाबंदियों के नाम पर मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं ही बंद हैं। इन्हें जल्द ही हटाने की दिशा में संबंधित प्रशासन जुटा है।

अलगाववादियों व जिहादियों के बंद के फरमान के बावजूद श्रीनगर समेत वादी के सभी प्रमुख शहरों व कस्बों में सुबह-शाम दुकानें खुली नजर आई। सिर्फ 11 बजे से शाम चार बजे तक ही दुकानें बंद रही। रेहड़ी-फड़ी पर सामान बेचने वाले प्रमुख बाजारों और सड़कों पर डटे रहे। उनके पास खरीदारों की भीड़ भी खूब रही। निजी वाहनों के साथ साथ तिपहिया वाहनों के अलावा टैक्सियां दिनभर सड़कों पर दौड़ती नजर आई। वादी की सड़कों पर कई जगह सुबह ही ट्रैफिक जाम की स्थिति रही जिसे काबू करने के लिए यातायात पुलिसकर्मियों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। सभी शिक्षण संस्थान खुले। हालात में बेहतरी से हताश आतंकियों व जिहादियों द्वारा गड़बड़ी किए जाने की आशंका के मद्देनजर संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा के कड़े प्रबंध थे। संबंधित अधिकारियों के मुताबिक, कुछेक इलाकों में कुछ तत्वों ने पथराव का प्रयास किया था। उन्हें जल्द वहां से खदेड़ सामान्य स्थिति बहाल कर ली गई। कुल मिलाकर पूरी वादी में स्थिति दिनभर शांत व सामान्य ही रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप