राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : वादी में बुधवार को आतंकियों व अलगाववादियों के बंद के फरमान का असर सिर्फ दुकानों तक सीमित रहा। सरकारी कार्यालय, बैंक और शिक्षण संस्थान खुले रहे। सड़कों पर वाहनों की आवाजाही भी रही। कई जगह सार्वजनिक वाहन भी नजर आए। प्रशासनिक कामकाज बिना किसी रुकावट चला। इस बीच, प्रशासन ने किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए थे।

वादी के प्रमुख शहरों व कस्बों में कई बाजार और निजी प्रतिष्ठान सुबह 11 बजे तक और फिर शाम चार बजे से रात नौ बजे तक खुले रहे। गली-मोहल्लों में स्थित रोजमर्रा के सामान की दुकानें दिनभर खुली रहीं। रेहड़ी-फड़ी और फुटपाथ पर सामान बेचने वालों की तादाद और उनके पास खरीदारों की भीड़ रही। हाईवे पर यात्री बसें भी नजर आई। सरकारी स्कूल भी बीते दिनों की तरह ही खुले। अध्यापकों की संख्या लगभग सामान्य रही, लेकिन अधिकांश स्कूलों में छात्र नदारद रहे। सरकारी कार्यालय भी खुले और कर्मचारियों की उपस्थिति लगभग सामान्य रही। बैंक भी सामान्य दिनों की तरह ही खुले। सरकारी कार्यालयों, जिला उपायुक्त कार्यालयों व नागरिक सचिवालय में कर्मचारियों की उपस्थिति लगभग सामान्य रही।

वादी में दिन की प्रशासनिक पाबंदियां नहीं थी। इसके बावजूद प्रशासन ने शरारती तत्वों के मंसूबों को नाकाम बनाने के लिए डाउन-टाउन समेत सभी संवेदनशील इलाकों में सुरक्षाबलों की गश्त बढ़ा दी थी। राज्य पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि स्थिति पूरी तरह शांत और नियंत्रित है। किसी जगह कोई हिसा या कानून व्यवस्था की स्थिति पैदा नहीं हुई है। बीते दिनों की अपेक्षा सड़कों पर आम लोगों और वाहनों की आवाजाही ज्यादा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस