Move to Jagran APP

JKSSB SI Paper Leak: सब-इंस्पेक्टर पेपर लीक मामले में ED को मिली बड़ी कामयाबी, मास्टरमाइंड को किया गिरफ्तार, 5 दिनों की मिली रिमांड

JKSSB SI Paper Leak Case जम्मू-कश्मीर सेवा चयन बोर्ड सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में ईडी को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। ईडी ने इस मामले में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। स्पेशल कोर्ट में पेश करने के बाद आरोपी को पांच दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। हिरासत में लेकर ईडी पूछताछ कर रही है।

By Jagran News Edited By: Sushil Kumar Thu, 11 Jul 2024 08:20 PM (IST)
JKSSB SI Paper Leak: सब-इंस्पेक्टर पेपर लीक मामले में ED को मिली बड़ी कामयाबी, मास्टरमाइंड को किया गिरफ्तार, 5 दिनों की मिली रिमांड
JKSSB SI Paper Leak Case: ईडी ने पेपर लीक मामले में मास्टरमाइंड को किया गिरफ्तार।

पीटीआई, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। ईडी ने जम्मू-कश्मीर सेवा चयन बोर्ड (JKSSB) सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया है। ईडी ने करीब तीन सप्ताह बाद फरार मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। विशेष अदालत में पेश करने के बाद पांच दिनों की हिरासत में ले लिया है।

अधिकारियों ने बताया कि हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले के लहरोदा निवासी अनिल कुमार (31) को ईडी ने जम्मू में बुधवार को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं के तहत गिरफ्तार किया है। उन्होंने कहा कि जम्मू के भ्रष्टाचार निरोधक (सीबीआई-ईडी मामले) विशेष न्यायाधीश की अदालत में पेश किया गया और पांच दिन की हिरासत में भेज दिया।

सात दिनों की मांग थी रिमांड

ईडी ने विशेष न्यायाधीश बाला ज्योति की अदालत में अपने विशेष लोक अभियोजक अश्विनी खजूरिया के माध्यम से दायर याचिका में अनिल कुमार की सात दिन की रिमांड की मांग की थी। जज ने अपने दो पेज के आदेश में कहा कि आरोपी को 10 जुलाई को गिरफ्तार किया गया है और मामले की जांच प्रारंभिक चरण में है, इसलिए उसे पांच दिनों की अवधि के लिए ईडी की हिरासत में भेजा जाता है।

यतिन यादव भी गिरफ्तार

24 जून को ईडी ने लंबी तलाश के बाद कथित 'सरगना' यतिन यादव (43) को गिरफ्तार किया था। यतिन भी हरियाणा का ही रहने वाला है। एजेंसी ने पीएमएलए के प्रावधानों के तहत 1 करोड़ रुपये की चल संपत्ति भी जब्त की है।

यह भी पढ़ें- Jammu Terror Attack: 'एक और सर्जिकल स्ट्राइक करने का आ गया समय', पाकिस्तान का पुतला फूंक कांग्रेस नेता ने केंद्र से की मांग

2022 में हुई थी परीक्षा

बता दें कि JKSSB उप-निरीक्षक भर्ती परीक्षा 27 मार्च 2022 को आयोजित की गई थी, लेकिन पेपर लीक और अनियमितता के बाद जुलाई में जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने 1200 उम्मीदवारों की चयनित सूची रद कर दी थी। साथ ही उन्होंने 1300 जूनियर इंजीनियरों और 1000 वित्त खाता सहायकों की सूची भी रद्द कर दी थी।

इस मामले में सीबीआई ने 12 नवंबर 2022 को कथित मास्टरमाइंड यादव सहित 33 आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था।

यह भी पढ़ें- JK News: जम्मू-कश्मीर में नहीं होगा विधानसभा चुनाव? आयोग की बैठक रद और पीएम मोदी के बयान से सियासी हलचल तेज