Move to Jagran APP

जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट के सीनियर एडवोकेट नजीर अहमद रोंगा गिरफ्तार, PSA के तहत मामला दर्ज; परिवार ने उठाए सवाल

जम्मू-कश्मीर बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष नजीर अहमद रोंगा को गुरुवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके खिलाफ सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। उनकी गिरफ्तारी को लेकर उनके बेटे ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए कहा कि उनके घर पर आज रात (गुरुवार) करीब एक बजे बिना वॉरंट के पुलिस आई और उनके पिता को अरेस्ट कर लिया गया।

By Jagran News Edited By: Prince Sharma Thu, 11 Jul 2024 04:30 PM (IST)
जम्मू-कश्मीर एचसी बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष को पीएसए के तहत गिरफ्तार किया गया

पीटीआई, श्रीनगर। वरिष्ठ वकील और जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष नजीर अहमद रोंगा को गुरुवार तड़के उनके श्रीनगर स्थित आवास से गिरफ्तार कर लिया गया। उनके खिलाफ सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम (PSA) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

अधिकारियों ने बताया कि रोंगा को शहर के निशात इलाके में उनके आवास से गिरफ्तार किया गया और पीएसए के तहत मामला दर्ज किया गया है। रोंगा के परिवार ने सोशल मीडिया पर कहा कि उन्हें रात (गुरुवार) 1 बजकर 10 मिनट पर गिरफ्तार किया गया। रोंगा गिरफ्तार होने वाले वकीलों के संगठन के दूसरे पूर्व अध्यक्ष हैं।

बेटे उमैर रोंगा ने एक्स पर किया पोस्ट

— Umair Ronga (@umairronga) July 10, 2024

वरिष्ठ वकील के बेटे उमैर रोंगा ने एक्स पर पोस्ट किया कि मेरे पिता, वकील एन.ए. रोंगा को गिरफ्तार किया गया है। वह जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं। रात (गुरुवार) करीब 1 बजकर 10 पर जम्मू-कश्मीर पुलिस की एक टुकड़ी बिना किसी गिरफ्तारी वारंट के हमारे घर पहुंची।

उमैर रोंगा ने कहा कि उन्होंने यहां सिर्फ इतना ही कहा कि यह ऊपर से आदेश है। हम इस समय गहरे संकट की स्थिति में हैं। हम केवल आशा कर सकते हैं कि यह जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन के सदस्यों को डराने-धमकाने के लिए पीएसए के दुरुपयोग का एक और उदाहरण नहीं है।

उन्होंने दो वीडियो भी पोस्ट किए जिसमें वर्दीधारी कर्मी जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष को ले जाते दिख रहे हैं।

मियां अब्दुल कयूम जो बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष भी रहे हैं। उन्हें साल 2020 में आतंकवादियों द्वारा वकील बाबर कादरी की हत्या के मामले में पिछले महीने गिरफ्तार किया गया था।

PDP अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने की निंदा

जम्मू-कश्मीर में हिंसा का चक्र बेरोकटोक जारी है। वह भी उन क्षेत्रों में जहां शायद ही कभी आतंकवाद देखा गया हो। हर दिन सैनिक बलिदान हो रहे हैं। भारत सरकार न केवल आतंकवाद को समाप्त करने में विफल रही है, बल्कि असहाय लोगों पर क्रूर कार्रवाई शुरू करके अपनी हताशा व्यक्त कर रही है।

यह भी पढ़ें- कठुआ आतंकी हमले के बाद हाई लेवल मीटिंग, जम्मू-कश्मीर और पंजाब के DGP रहे मौजूद; सुरक्षा ग्रिड पर हुई चर्चा