राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : पंचायत चुनाव की तैयारी देख आतंकी तिलमिला उठे हैं। हिजबुल मुजाहिदीन के स्वयंभू डिवीजनल कमांडर रियाज अहमद नायकू ने पंचायत चुनाव में भाग लेने वालों की आंखों में तेजाब डालने और उन्हें मौत के घाट उतारने की धमकी दी। उन्होंने मीडिया कर्मियों को भी आतंकियों के बारे में नकारात्मक रिपोíटंग से बाज आएं।

गौरतलब है कि निकाय और पंचायत चुनाव अक्टूबर में कराने की योजना पर सरकार जुटी है। इससे कश्मीर में आतंकी व अलगाववादी घबराएं हुए हैं। बीते साल भी जब चुनाव की तैयारी होने लगी थी तो नायकू ने तेजाब फेंकने की धमकी दी थी।

मंगलवार को नायकू ने सोशल मीडिया के जरिए 11.14 मिनट के ऑडियो संदेश में कहा कि भारतीय फौज लोगों पर पंचायत चुनाव में भाग लेने का दबाव बना रही है। जो लोग इलेक्शन फार्म भरने जाएंगे वह अपने लिए कफन का इंतजाम कर लें। नायकू ने गत दिनों पुलवामा में शमीमा बानो की हत्या का जिम्मा लेते हुए कहा कि उसने समीर टाइगर की मुखबिरी की थी। नायकू ने कहा कि कश्मीर में विभिन्न अखबारों और एजेंसियों के बारे में कहा कि ये लोग आम कश्मीरियों पर की जाने वाली ज्यादतियों, हमारे साथियों के घरों में तोड़-फोड़ की खबरों को दबा जाते हैं। व्यापारियों को सीसीटीवी कैमरे हटाने या फिर उन्हें इस तरीके से लगाने को कहा जिससे उनमें सड़क पर मुजाहिदीनों की आवाजाही रिकॉर्ड न हो। 12 लाख के ईनामी आतंकी नायकू ने अभिभावकों से कहा है कि वह अपने बच्चों को सुरक्षाबलों के खेल कार्यक्रमों और भारत दर्शन कार्यक्रमों से दूर रखें। नायकू ने लोगों को हिज्ब के नाम पर चंदा न देने की हिदायत दी।

Posted By: Jagran