श्रीनगर, एएनआइ। Grenade Attack In Budgam: जम्मू-कश्मीर में बड़गाम में ग्रेनेड हमले की खबर है। अभी तक किसी किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के मुताबिक, अज्ञात बाइक सवार आतंकियों ने बड़गाम के नामथियाल में सीआरपीएफ की 43 बटालियन के शिविर पर एक चीनी ग्रेनेड फेंका। गेट के पास ग्रेनेड में विस्फोट हुआ। कोई नुकसान व चोट की सूचना नहीं है। वहीं, सुरक्षाबलों ने शुक्रवार को राजौरी जिले के गंभीर मुगलां क्षेत्र के जंगल में एक आतंकी ठिकाना ध्वस्त कर दिया। इस ठिकाने से दो एके 47 राइफल व इसकी दो मैगजीन, एके-47 के 270 कारतूस, दो चीनी पिस्तौल व इसकी दो मैगजीन, 75 पीका राउंड, दस डेटोनेटर और 5-6 किलोग्राम विस्फोटक बरामद हुआ है। 

 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजौरी चंदन कोहली के अनुसार एक विशेष सूचना पर पुलिस और 38 आरआर के संयुक्त दल के नेतृत्व में डीएसपी इम्तियाज अहमद, एसडीपीओ मंजाकोट निसार खुजा और एसएचओ मंजकोट पंकज शर्मा और सेना के अधिकारियों ने तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान गंभीर मुगलां से सटे घने जंगल में एक आतंकी ठिकाना मिला। पत्थरों की मदद से इसे जमीन के अंदर बनाया गया था। इसे ध्वस्त कर दिया गया। पुलिस ने मंजाकोट पुलिस थाने में इस संबंध में केस दर्ज किया गया है।

इस बीच, दक्षिण कश्मीर में सक्रिय आतंकियों के लिए हथियारों का बंदोबस्त करने वाले लश्कर-ए-तैयबा के दो ओवरग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) शुक्रवार का उत्तरी कश्मीर के हंदवाड़ा (कुपवाड़ा) में पकड़े गए हैं। उनके पास से एक मोटरसाइकिल समेत चीन निर्मित क्यूबीजैड-97 (एसाल्ट राइफल) और एक एके-105 राइफल व अन्य साजोसामान जब्त किया गया है। कश्मीर में आतंकियों या उनके किसी ओवरग्राउंड वर्कर के पास से चाइनीज क्यूबीजैड-97 राइफल की बरामदगी का यह तीसरा मौका है। हंदवाड़ा पुलिस को सुबह पता चला था कि लश्कर के दो ओवरग्राउंड वर्कर हथियारों का बंदोबस्त करने में लगे हैं। पुलिस ने उन्हें पकड़ने के लिए सेना की 21 आरआर और सीआरपीएफ की 92वीं वाहिनी के जवानों के साथ मिलकर कस्बे में कई जगहों पर नाके लगाए। चिनार पार्क के पास नाके पर तैनात जवानों ने एक मोटरसाइकिल पर सवार दो युवकों को अपनी तरफ आते देखा।

इन युवकों ने जब नाका देखा तो उन्होंने मोटरसाइकिल मोड़ने का प्रयास किया। इस पर जवानों का संदेह यकीन में बदल गया। इसके बाद दोनों को दबोच लिया गया। इनकी पहचान लियाकत अहमद मीर और आकिब रशीद मीर के रूप में हुई है। यह दोनों ही हयना त्रेहगाम कुपवाड़ा के रहने वाले हैं। इन दोनों से चीन निर्मित एक क्यूबीजैड-97 और एक एके-105 राइफल मिली है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इन दोनों ने लश्कर के साथ अपने संबंधों का खुलासा किया है। यह दोनों ही दक्षिण कश्मीर में सक्रिय आतंकियों के लिए हथियारों का बंदोबस्त करते थे। इस बार भी वह हथियारों का बंदोबस्त कर उन्हें दक्षिण कश्मीर में पहुंचाने वाले थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021