Move to Jagran APP

Jammu Kashmir News: भाजपा कार्यकर्ता के वीडियो पर छिड़ा विवाद, पीडीपी ने शिकायत के बाद किया विरोध प्रदर्शन

पीडीपी (Jammu Kashmir News) के कार्यकर्ताओं ने भाजपा पर मतदाताओं को अपनी पार्टी के पक्ष में मतदान के लिए धमकाने का आरोप लगाया है। जिसको लेकर पहले तो निर्वाचन अधिकारी के समक्ष शिकायत की गई और बुधवार को पार्टी मुख्यालय के पास विरोध प्रदर्शन किया गया। बीजेपी ने एक्शन लेते हुए आरोप लगे कार्यकर्ता को संगठन से छह साल के लिए बाहर निकाल दिया।

By Jagran News Edited By: Monu Kumar Jha Published: Wed, 01 May 2024 01:42 PM (IST)Updated: Wed, 01 May 2024 02:03 PM (IST)
Jammu Kashmir News: भाजपा कार्यकर्ता के वीडियो पर छिड़ा विवाद।

राज्य ब्यूरो, श्रीनगर। (Jammu Kashmir Lok Sabha Election 2024 Hindi News) अनंतनाग-राजौरी संसदीय क्षेत्र में मंगलवार को भाजपा के एक कार्यकर्ता के वीडियो को लेकर विवाद पैदा हो गया जिसे लेकर आज पार्टी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। पीडीपी (PDP News) ने वीडियो का हवाला देते हुए भाजपा पर अनंतनाग-राजौरी सीट पर मतदाताओं को अपनी पार्टी के पक्ष में मतदान के लिए धमकाने का आरोप लगाया। साथ ही पीडीपी ने निर्वाचन अधिकारी के समक्ष शिकायत दर्ज कराकर कार्रवाई की मांग की है।

भाजपा ने कार्यकर्ता पर कार्रवाई करते छह साल के लिए किया निष्कासित

भाजपा (Jammu Kashmir BJP) ने मामले को तूल पकड़ते देख उक्त कार्यकर्ता को संगठन से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया है। वहीं, आरोपित कार्यकर्ता ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि उसकी बात को गलत ढंग से पेश किया गया है। इसके बावजूद अगर किसी को ठेस पहुंची है तो वह क्षमाप्रार्थी है और अपने शब्द वापस लेता है। पुलिस (Jammu Kashmir Police) ने भी कथित तौर पर इस मामले का संज्ञान लिया है।

महबूबा मुफ्ती ने वीडियो शेयर करते पूछे ये कड़े सवाल

पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने भी वीडियो को अपने एक्स हैंडल पर प्रसारित करते हुए लिखा है कि क्या इसीलिए भाजपा अनंतनाग-राजौरी चुनाव को टालना चाहती थी, ताकि उसके नेता खुलेआम पहाड़ियों के खिलाफ हिंसा की धमकी देकर उन्हें अपनी पार्टी को वोट देने के लिए मजबूर कर सकें, अन्यथा वे 1947 के विभाजन की याद दिलाते हुए सांप्रदायिक तनाव पैदा कर देंगे?

जानकारी के अनुसार, जिला पुंछ के मेंढर में भाजपा नेताओं ने मंगलवार को एक बैठक बुलाई थी। इसमें गुज्जर-बक्करवाल (Gujjar-Bakkarwal) और पहाड़ी समुदाय के प्रतिनिधि भी शामिल थे। इसमें भाग लेने वाले सतीश सासन नामक एक भाजपा कार्यकर्ता का वीडियो प्रसारित हो रहा है। इस वीडियो पर आपत्ति जताते हुए पीडीपी के वरिष्ठ नेता और प्रवक्ता फिरदौस अहमद टाक ने अनंतनाग के निर्वाचन अधिकारी के समक्ष शिकायत दर्ज कराई।

यह भी पढ़ें: Tashi Gyalson Nomination: भाजपा से लद्दाख के लोकसभा उम्मीदवार ताशी ग्यालसन आज भरेंगे नामांकन

उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता खुलेआम पहाड़ी मुस्लिमों को धमकियां दे रहे हैं। उन्होंने इस सदर्भ में तत्काल उचित कार्रवाई की मांग की है। सतीश सासन ने देर रात इस मुद्दे पर अपनी सफाई दी। उन्होंने कहा कि उनकी बात को गलत तरीके से पेश किया गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने भी इस विषय में उनसे पूछताछ की है।

भाजपा ऐसे बयानों की करती है कड़ी निंदा

विबोध गुप्ता प्रदेश भाजपा महासचिव विबोध गुप्ता ने कहा कि भाजपा ऐसे बयानों की कड़ी निंदा करती है। राजौरी व पुंछ में सांप्रदायिक सौहार्द को बरकरार रखने के लिए पार्टी समर्पित है। ऐसे किसी भी बयान का हम पूरा विरोध करते हैं जो सांप्रदायिक सौहार्द्ध के हित में ना हो।

बयान देने वाले व्यक्ति के पास भाजपा की कोई जिम्मेदारी नहीं है। इस मामले को पार्टी ने गंभीरता से लिया है। पार्टी की अनुशासन समिति ने यह मामला प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना (Ravindra Raina) के समक्ष उठाया था, उसके बाद उक्त कार्यकर्ता को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से बर्खास्त कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: Sajjad Gani Lone Nomination: पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के मुखिया बारामुला सीट से आज भरेंगे नामांकन, जानें इनका चुनावी करियर


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.