जागरण संवाददाता, राजौरी : पाकिस्तानी सेना की गोलबारी के कारण सीमा से सटे खेतों में किसान नहीं पहुंच पा रहे हैं, जिससे वे अपनी फसल को नहीं काट रहे हैं।

सीमा के करीब रहने वाले लोगों की गेहूं की फसल खेत में पककर तैयार हो चुकी है। अब कटाई का कार्य बचा हुआ है, लेकिन पाक सेना हर रोज गोलाबारी करके किसानों को खेतों में जाने से रोक रही है। अगर कुछ दिनों में फसल नहीं कटी तो वह खराब हो जाएगी। सीमांत क्षेत्रों में रहने वाले किसान गोलाबारी रुकने की दुआ कर रहे हैं ताकि फसल की कटाई शुरू हो सके।

पाक सेना कई दिनों से राजौरी के मंजाकोट, कलाल, लाम, झंगड़, सुंदरबनी के साथ पुंछ के बालाकोट, तरकुंडी, शाहपुर किरनी, गुलपुर, पुंछ व कृष्णा घाटी सेक्टर में भारी गोलाबारी कर रही है। गोलाबारी के कारण किसान अपने खेतों में जाने से डर रहे हैं। कलाल के सरपंच रोमेश चौधरी का कहना है कि पाकिस्तानी सेना लोगों को फसल की कटाई नहीं करने दे रही है। जैसे ही किसान फसल की कटाई के लिए जाते है तो उसी समय पाक सेना गोलाबारी शुरू कर देती है, जिससे किसानों ने खेतों में जाना ही बंद कर दिया है। उन्होंने कहा कि पाक सेना के जवान हमारे क्षेत्र में देखते रहते हैं और जैसे ही किसान अपना काम खेतों में शुरू करते हैं तो मोर्टार दागने शुरू कर देते हैं। अब किसानों की फसल पक कर तैयार हो चुकी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस