पुंछ, एएनआइ। पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर और राजौरी जिले के केरी सेक्टर में रविवार सुबह 11 बजे सीजफायर का उल्लंघन किया। वहीं, भारतीय सेना ने भी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया। 

राजौरी जिले के केरी सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से एलओसी पार की गई गोलाबारी में मोहम्मद महरूफ नामक एक व्यक्ति घायल हो गया।

 

रमजान माह में हो जंगबंदी: महबूबा मुप्ती
पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को कश्मीर में रमजान माह के दौरान केंद्र सरकार से आतंकियों के साथ सीजफायर करने का आग्रह किया है। उन्होंने केंद्र सरकार पर रियासत के लोगों की जिंदगी को जहन्नुम बनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि अगर वह कश्मीर को अपने साथ रखना चाहते हैं तो यहां के लोगों को इज्जत के साथ रखें।अनंतनाग संसदीय क्षेत्र से पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती भी चुनाव लड़ रही हैं। देश के सबसे ज्यादा संवेदनशील क्षेत्रों में शामिल अनंतनाग-पुलवामा में तीन चरणों में मतदान हो रहा है।

अंतिम चरण का मतदान छह मई सोमवार को जिला पुलवामा और शोपियां में हो जा रहा है और उसी दिन पाक रमजान का महीना भी शुरू होने जा रहा है। शनिवार को अपने निवास पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जिस तरह से केंद्र सरकार यहां कदम उठा रही है, उससे लगता है कि वह कश्मीरियों के साथ जंग लड़ रही है। जमात ए इस्लामी व जेकेएलएफ पर बैन, मुजफ्फराबाद कारोबार बंद, हाईवे दो दिन बंद, नौजवानों की धड़-पकड़ का माहौल और अब राज्य के स्वायत्त संस्थानों में भी सरकारी हस्तक्षेप की तैयारी चल रही है, जेके बैंक में भी हस्ताक्षेप किया गया। हमारी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। हाईवे पर पाबंदी से कश्मीर के फलो उत्पादक व व्यापारी लगातार नुकसान झेल रहे हैं। मुसीबत में रियासत के लोग महबूबा मुफ्ती ने कहा कि यहां लोग बहुत मुसीबत में हैं। हमारी रियासत मुस्लिम बहुसंख्यक है। अब दो दिन में पाक रमजान का महीना शुरू हो रहा है।

यह इबादत का महीना होता है, लोगों को सुबह शाम मस्जिदों में आना-जाना होता है। इसलिए मेरी गुजारिश है कि पिछले साल की तरह इस बार भी रमजान सीजफायर होना चाहिए। यहां जारी तलाशी अभियान और क्रैकडाऊन बंद होने चाहिए ताकि लोग पाक रमजान का महीना आराम से गुजारें।रमजान का आतंकी भी करें सम्मान पीडीपी अध्यक्षा ने कहा कि इसके साथ ही मैं मिलिटेंटस (आतंकियों) से भी आग्रह करूंगी कि वह रमजान का सम्मान करें और अपनी गतिविधियां बंद रखें,क्योंकि यह महीना इबादत का होता है,गुनाहों से तौबा करने का होता है। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि अनुच्छेद धारा 370और 35ए को लकर लगातार उकसाने वाली बातें की जा रही हैं। जम्मू कश्मीर में लोगों के लिए चाहे वह आíथक हो या सामाजिक या फिर लोकतांत्रिक हर तरह की जगह को धीरे धीरे समाप्त किया जा रहा है। इससे लोगों में गुस्सा और राष्ट्रीय मुख्य धारा से विमुखता की भावना बढ़ती जा रही है।

केंद्र सरकार ने कर रखा है जंग का एलान महबूबा मुफ्ती ने कहा कि केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर के लोगों के साथ एलान ए जंग कर रखा है। इस तरह से वह कश्मीर के लोगों को अपने साथ चला पाएंगे,यह मुझे समझ में नहीं आता। वैसे भी मोदी जी बार बार कहते हैं कि मैं वाजपेयी की जम्हूरियत, इंसानियत और कश्मीरियत की पॉलिसी को फॉलो करना चाहता हूं । अगर ऐसा है तो वह जंगबंदी का एलान करें। सोमवार को होने जा रहे मतदान संबंधी सवालों को टालते हुए उन्होंने कहा कि दक्षिण कश्मीर में जो हालात हैं, गत रोज जो शोपियां में मुठभेड़ हुई है,उसका असर मतदान पर होगा। मतदान का प्रतिशत कम रह सकता है। लेकिन मेरी लोगों से अपील है कि वह घरों से बाहर निकल अपने मताधिकार का प्रयोग करें।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस