जागरण संवाददाता, पुंछ : रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को पुंछ जिले के सलानी गांव में शहीद औरंगजेब के घर जाकर परिवार के साथ मुलाकात कर उनका हौसला बढ़ाया। रक्षा मंत्री ने कहा कि यह परिवार पूरे देश के लिए प्रेरणा है। औरंगजेब के परिवार की ओर से शहादत का बदला लेने की बात पर रक्षा मंत्री ने कहा कि आपको इसकी ¨चता करने की जरूरत नहीं है, इस कार्य के लिए हमारे जवान पूरी तरह सक्षम हैं।

14 जून को सेना का जवान औरंगजेब ईद की छुट्टी लेकर अपने घर सलानी गांव के लिए निकला था, लेकिन बीच रास्ते में आतंकवादियों ने उसका अपहरण कर निर्मम हत्या कर कर थी।

रक्षा मंत्री सीतारमण सुबह दिल्ली से जम्मू पहुंचीं और उसके बाद विशेष चापर से पुंछ जिले के सलानी गांव में जाकर शहीद औरंगजेब के घर जाकर परिवार से काफी देर तक बात की। रक्षा मंत्री अपने साथ कुछ उपहार लेकर आई थीं, जो उन्होंने शहीद के परिवार के सदस्यों को दिए। साथ ही आर्थिक सहायता का चेक भी भेंट किया। इस दौरान पत्रकारों से बात करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि शहीद के परिवार के सदस्यों से मिलने के लिए आई हूं और लौटते समय यह संदेश लेकर जा रही हूं कि पूरा परिवार देश के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। पिता ने फिर दोहराया, मेरे बेटी की शहादत का बदला लो :

शहीद औरंगजेब के पिता पूर्व सैनिक मुहम्मद हनिफ ने रक्षा मंत्री से काफी देर तक बातचीत की और उन्हें पूरे हालात से अवगत करवाया। पिता ने फिर दोहराया कि मेरे बेटे की शहादत का बदला जल्द लो। इससे पहले सोमवार को थल सेना प्रमुख जनरल बिपीन रावत भी सलानी गांव में पहुंचकर शहीद के परिवार से मिले थे। रक्षा मंत्री ने कृष्णा घाटी में जवानों के साथ की मुलाकात :

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने संवेदनशील कृष्णा घाटी सेक्टर जाकर सीमा पर तैनात जवानों के साथ मुलाकात की। उन्होंने काफी समय जवानों के साथ बिताया और उनके साथ जलपान भी किया। रक्षा मंत्री ने अग्रिम चौकियों का दौरा करके हालात का जायजा लिया और जवानों का मनोबाल बढ़ाया। उन्होंने सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक करके क्षेत्र के हालात पर चर्चा की और कई दिशा निर्देश भी जारी किए। इसके बाद रक्षामंत्री लौट गई।

'आप शेर सुपुत्र की माता हैं। आप गर्व से सिर ऊंचा करके जियें। हम हमेशा आपके साथ हैं और आपकी हर मदद करेंगे।'

- शहीद औरंगजेब की माता से बोलीं रक्षा मंत्री सीतारमण

Posted By: Jagran