जागरण संवाददाता, कठुआ : सरकारी संस्थानों की तरह अब निजी व्यापारिक प्रतिष्ठानों ने भी गर्मी की छुट्टियों का मजा लेना शुरू कर दिया है। छोटे दुकानदार से लेकर बडे़ दुकानदार भी कुछ दिन के लिए अपनी दुकानें बंद करके गर्मी की छुट्टियां मनाने लगे हैं। विगत 5 साल से कठुआ जिला में इस तरह की रिवायत स्वर्णकार संघ द्वारा शुरू की गई थी, जो अब धीरे धीरे सभी प्रकार के व्यापारिक संगठनों ने शुरू कर दी है। जिसके चलते अब साल में जून महीने की भीषण गर्मी के दौरान दुकानदार तीन से चार छुट्टिया करके परिवार सहित ठंडे इलाकों में घूमने का मौका पा रहे हैं। हालांकि ये रिवायत व्यापारिक प्रतिष्ठानों के संगठनों की आपसी सहमति से बनाई है। जो अब सभी तरह के दुकानदारों को पसंद आ गई है। इसी रिवायत के चलते शहर में शुक्रवार मुख्य बाजार में 70 फीसद दुकानें गर्मी की छुट्टियों के चलते बंद दिखी। जिससे शहर में एकदम बिना कोई हड़ताल,

क‌र्फ्यू या संडे होने के कारण सुनसान दिखी । गत 26 जून से शहर का सर्राफा बाजार 5 दिन के लिए बंद है। वही 27 जून से तीन दिन के लिए ऑटोमोबाइल, टेलीकम्युनिकेशन, इलेक्ट्रॉनिक, क्लॉथ मरचेंट्स, मन्यारी फुट बियर आधी भी 3 दिन से गर्मी की छुट्टियों से दुकानें बंद करके घूमने के लिए चले गए हैं। शुक्रवार 28 जून से किरयाना भी तीन दिन के लिए बंद हैं। अब शनिवार से 2 दिन के लिए आवश्यक सेवाओं में आने वाले सब्जी और फ्र्रूट विक्रेता भी दूसरे दुकानदारों की तरह अपनी दुकानें से बंद करके गर्मी की छुट्टिया का मजा ठंडे इलाके में जा कर लेंगे, हालाकि इससे आम ग्राहकों ग्राहकों को बाजार में खरीदारी करने के लिए मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है लेकिन लोग किसी तरह से अपना जरूरतें पूरी कर रहे हैं। फ्रूट यूनियन के प्रधान कुलबीर सिंह का कहना है कि अब ये रिवायत बन गई है, इसको सबका पालन करना होगा। हालांकि एक दृष्टि से सही है कि कम से कम दुकानदार भी साल में अब छुट्टी का मजा ले सकेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप