जागरण संवाददाता, कठुआ : रसाना मामले में आरोपित नाबालिग के पिता ने क्राइम ब्रांच की जांच पर सवाल उठाए हैं। सोमवार को कठुआ में कोर्ट परिसर में बेटे से मिलने आए पिता ने बचाव पक्ष के वकील एके साहनी व असीम साहनी को आपबीती सुनाई। उन्होंने कहा कि शुरुआती जांच के दौरान जब वह अपने गिरफ्तार बेटे से मिलने जम्मू गए तो उस समय क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने मुलाकात कराने से पहले उनसे कोरे कागज पर हस्ताक्षर कराए। उन्होंने आपत्ति जताई और पूछा कि कोरे कागज पर हस्ताक्षर क्यों करवा रहे हो? तब उन्होंने इसे मात्र औपचारिकता बताई। इसके बाद अब क्राइम ब्रांच द्वारा चालान पेश करने के उपरांत जब वह चार्जशीट की कापी लेने गत शनिवार को जम्मू उनके कार्यालय में गए तो उन्होंने कापी दे दी। जब कापी लेकर वापस घर आ रहे थे तो क्राइम ब्रांच के अधिकारियों का रास्ते में फोन किया कि आपके कागज से जुड़े कुछ कागज रह गए हैं, उन्हें भी आकर ले लो। जब वह वापस पहुंचे तो उन्होंने चार्जशीट के कागज वापस ले लिए और उन्हें खाली लौटा दिया। इससे साफ होता है कि क्राइम ब्रांच सुनवाई से पहले चालान की कापी किसी को नहीं देना चाहती थी, जो संदेह पैदा करता है।

------------------------

Posted By: Jagran