संवाद सहयोगी, बिलावर : उप जिला अस्पताल बिलावर में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्थाओं से हर रोज लोगों मरीजों को परेशान होना पड़ता है। बिगड़ी स्वास्थ्य व्यवस्था के खिलाफ जनता में उपराज्यपाल प्रशासन और जिला प्रशासन के प्रति और रोष बढ़ता जा रहा है। धवार को जनता का गुस्सा फूट पड़ा और बिलावर उप जिला अस्पताल के मुख्य गेट के सामने बिलावर मार्ग पर सामाजिक कार्यकर्ता संजीत शर्मा के नेतृत्व में अगुवाई में लोगों ने स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि

जिला अस्पताल कठुआ के बाद उप जिला बिलावर अस्पताल ऐसा अस्पताल है जहा सबसे ज्यादा मरीज हर रोज ओपीडी में स्वास्थ्य जाच के लिए आते हैं। लेकिन यहा पर सुविधाओं का घोर अभाव है। प्रदर्शनकारियों ने सीएमओ कठुआ जम्मू डायरेक्टर हेल्थ के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों का साथ देने लगे एडीसी बिलावर संदेश कुमार शर्मा तहसीलदार पंकज शर्मा एसडीपीओ बिलावर अरविंद कुमार एसएचओ बिलावर सुनील शर्मा मौके पर पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शनकारियों को शात करने का प्रयास किया। लेकिन प्रदर्शनकारी नहीं माने। प्रदर्शनकारियों का आरोप था कि उप जिला अस्पताल में क्रिटिकल केयर एंबुलेंस सुविधा उपलब्ध थी लेकिन पिछले 1 वर्ष से बिलावर अस्पताल की क्रिटिकल केयर एंबुलेंस को किसी अन्य अस्पताल में भेज दिया गया है। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि अस्पताल में जनरेटर की व्यवस्था भी नहीं है और पिछले कई वर्षो से खराब पड़े जरनेटर को आज तक ठीक नहीं किया गया है। प्रदर्शनकारियों ने कहा के अस्पताल में अल्ट्रासाउंड मशीन होने के बावजूद उसे चलाने वाला कोई विशेषज्ञ डॉक्टर नहीं है। जिससे आम जनता को निजी अल्ट्रासाउंड सेंटरों में जाकर कई हजारों रुपए खर्च करने पड़ते हैं और सरकारी सुविधाओं का लोगों को कोई लाभ नहीं मिल रहा। प्रदर्शनकारियों ने कहा के कई बार इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग के निदेशक और सीएमओ कठुआ को अवगत करवा चुके हैं। लेकिन सि वाय कोरे आश्वासनों के कुछ नहीं मिलता , जनता को पेश आ रही दिक्कतों की कोई भी सुनवाई नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि पिछली रात भीनी पुल पर हुए सड़क हादसे में एक युवक के सिर पर गहरी चोट आ गई थी। जिसके बाद जब उसे उप जिला अस्पताल मैं उपचार के लिए लाया गया । तो एंबुलेंस ना होने के कारण उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उन्होंने बताया कि जो एंबुलेंस उप जिला अस्पताल में है उसमें किसी भी प्रकार की सुविधा नहीं है और रात के समय टॉर्च जलाकर मरीज को एंबुलेंस में उपचार दिया गया। जनप्रतिनिधियों ने किया हस्तक्षेप

जिला विकास परिषद माडली की सदस्य नीरू राजपूत, जिला विकास परिषद नगरोटा के सदस्य नारायण दत्त त्रिपाठी , सेवानिवृत्त डीएसपी पूर्णचंद ,सुभाष चौधरी के हस्तक्षेप के बाद प्रदर्शनकारी शात हुए और टेलीफोन पर सीएमओ कठुआ की ओर से आश्वासन दिया कि जल्द ही उप जिला अस्पताल बिलावर में क्रिटिकल केयर एंबुलेंस की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी ।सुबह 10 बजे प्रदर्शनकारी सड़क पर बैठ गए। जिसके कारण सड़क की दोनों तरफ वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग गई । 3 घटे बाद प्रदर्शनकारियों ने धरना प्रदर्शन बंद कर दिया जिसके बाद सड़क पर यातायात बहाल हो पाई ।

Edited By: Jagran