जागरण न्यूज नेटवर्क, चड़वाल: जम्मू कश्मीर शरणार्थी एक्शन कमेटी ने तहसीलदार मढ़ीन द्वारा कमेटी सदस्यों के प्रति कहे गए अपशब्दों की निंदा की है। सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में कमेटी के सदस्य गुरदेव सिंह ने कहा कि अधिकारियों का तानाशाह रवैया बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोग इंतकाल चढ़ाने या जमीनों से संबंधित कार्यो के लिए तहसीलदार कार्यालय जा रहे हैं, लेकिन उन्हें जानबूझकर परेशान किया जा रहा है। वहीं दीपक रैना ने तहसीलदार की कार्यप्रणाली की निंदा करते हुए सरकार से तत्काल तहसीलदार को स्थानातरित करने या फिर निलंबित करने की माग की।

जम्मू कश्मीर शरणार्थी एक्शन कमेटी के सरदार गुरदेव सिंह ने बताया कि गाव छन्न रोडिया के 104 साल के बुजुर्ग पंडित शिवराम पुत्र गुलाबचंद, जिनका पिछले 10 से 15 साल से एक ही जगह केस चल रहा था। जिसका फैसला एडीसी हीरानगर और रेवेन्यू विभाग ने हल कर दिया है, जिसमें बताया गया है कि शिवराम का उस जगह पर मालिकाना हक है और उनका इंतकाल चढ़ाया जाए, लेकिन तहसीलदार मढ़ीन उच्चाधिकारियों के आदेश की अवहेलना कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब एक तरफ कानून शिवराम को उसकी जमीन का फैसला उसके हक में सुना चुका है, बावजूद तहसीलदार उस जगह को शिवराम को नहीं दे रहा है और उसका इंतकाल चढ़ाने के लिए आनाकानी कर रहा है। उन्होंने कहा कि जब भी शिवराम तहसीलदार मढ़ीन के पास जाकर अपनी जगह का इंतकाल करवाने की बात करते हैं तो उनके साथ अभद्र व्यवहार किया जाता है। उन्होंने कहा कि तहसीलदार मढ़ीन एक ही बिरादरी को परेशान करने की कोशिश कर रहा है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर तहसीलदार ने जल्द से जल्द शिवराम की जमीन का इंतकाल नहीं किया तो उसके खिलाफ उग्र प्रदर्शन किया जाएगा।

Edited By: Jagran