जागरण संवाददाता, कठुआ: कोरोना को मात देने में वैक्सीन को मुख्य हथियार मान रही सरकार अब इस प्रक्रिया को प्राथमिकता के आधार पर युवा वर्ग में शुरू करने के लिए जुट गई है।

गत मई के तीसरे सप्ताह में सरकार ने उक्त उम्र के युवाओं को टीकाकरण अभियान की शुरूआत की थी, लेकिन उस समय अन्य उम्र के लोगों को भी जारी वैक्सीन के चलते स्टाक में कमी आते देख बंद कर दिया था। उस समय सरकार ने 45-60 उम्र के लोगों को टीकाकरण अभियान में सबसे पहले प्राथमिकता देते हुए 10 दिन में सौ फीसद लक्ष्य पूरा करने के निर्देश दिए। हालांकि, अभी उक्त उम्र के लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य 75 फीसद के आसपास ही है।

जिले के बिलावर और बनी में उक्त उम्र के लोगों द्वारा टीकाकरण कराने का अभियान सुस्त गति में है। इस सुस्त गति के बीच अब सरकार ने 18-44 उम्र के युवाओं को स्थगित किए गए टीकाकरण अभियान को हर जगह शुरू कर दिया। पहले दिन 1170 के करीब युवाओं ने टीकाकरण अभियान में हिस्सा लेते हुए पहली डोज ली। इस विशेष उम्र के युवाओं को टीकाकरण अभियान की पहली प्राथमिकता स्वास्थ विभाग कामकाजी संगठनों, कर्मचारियों को दे रहा है। इसके चलते पहले दिन जिले में व्यापार मंडल, कर्मचारियों, फ्रंट लाइन, हेल्थ कर्मचारियों, परिवहन यूनियनों आदि को टीका लगाया गया। बाक्स---

कहां किस ब्लॉक कितने को लगा टीका

जीएमसी कठुआ--100

सीएचसी परोल--159

सीएचसी बिलावर--- 248

सीएचसी बसोहली--- 100

सीएचसी बनी--100

सीएचसी हीरानगर--323

अर्बन पीएचसी,नागनगर, कृष्णा कालोनी,गोविदसर---140

(इसके अलावा जिले में 45 से 60 साल की उम्र के 306 लोगों को, 94 वरिष्ठ नागरिकों, 5 फ्रंट लाइन वर्कर्स और 3 हेल्थ वर्कर्स को उक्त सीएचसी में कोरोना की पहली डोज लगाई गई,जबकि दूसरी डोज 45-60 उम्र के 6 और 43 वरिष्ठ नागरिकों को लगाई गई।)

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप