जागरण संवाददाता, कठुआ: जिला में हालांकि कोरोना दम तोड़ने लगा है,लेकिन उसके बाद भी एहतियात बरतना अभी भी जरूरी है,अगर ऐसा नहीं किया तो दोबारा संक्रमित हो सकते हैं। यह कहना है जिला प्रशासन के डीसी राहुल यादव का। बुधवार जिला में कोरोना परिद्श्य पर जानकारी देते हुए यादव ने बताया कि जिला में कोरोना का प्रकोप लगातार कम हो रहा है। अब उनका जिला पूरे प्रदेश में सबसे कम सक्रिय कोरोना संक्रमितों की संख्या वाला बन गया है। जिला में अब 101 सक्रिय कोरोना संक्रमितों की संख्या रह गई है। रिकवरी रेट 98 फीसद क पहुंच गया है। इसके अलावा जिला में अब जीएमसी में 8 कोरोना मरीज भर्ती है,वो भी ज्यादा गंभीर स्थिति में नहीं है। हालांकि ये सब लॉकडाउन एवं लोगों के सहयोग से संभव हुआ है। इसलिए अभी जब अनलॉकडाउन शुरू हो चुका है तो और भी एहतियात बरतने की जरूरत है,लेकिन देखा जा रहा है कि बाजार में लोग शारीरिक दूरी की पालना नहीं कर रहे हैं। इससे दोबारा संक्रमण फैलने की आशंका बन सकती है। इसलिए अभी पहले से भी ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है और इससे बचने एवं सुरक्षित रहने का सबसे बड़ा हथियार एहतियात बरते और वैक्सीनेशन कराएं।घरों से बाहर निकलने पर मास्क एवं भीड़ में एक दूसरे से दूरी बनाकर रखें। डीसी ने ये भी आदेश जारी किया कि जो सरकारी कर्मी जून महीने में वैक्सीनेशन कराने में पिछड़ गया,उसे वेतन नहीं मिलेगा। हालांकि वैक्सीनेशन जिला में तेजी से जारी है। अभी तक 45 से ऊपर उम्र के 78 फीसद लोग वेक्सीन लगा चुके हैं,अब 18-44 उम्र के लोगों को भी तेजी से वैक्सीन लगाई जा रही है। बाक्स----

एसओपी की उल्लंघना करने वालों के खिलाफ कार्रवाई अभियान जारी

जागरण संवादादाता,कठुआ

जिला में बुधवार कुल 16 नये कोरोना पाजिटिव मिले और 31 स्वस्थ भी हुए। जिसके चलते अब जिला में कुल 101 स्त्रक्रिय कोरेाना संक्रमित रह गए है। सबसे बड़ी राहत विगत 7 जून से जिला में किसी कोरोना संक्रमित की मौत भी नहीं हुई है।

इसी बीच पुलिस का एसओपी की उल्लंघना करने वालों के खिलाफ कार्रवाई अभियान जारी है। बुधवार भी 55 लोगों पर एसओपी की उल्लंघना करने पर कार्रवाई करते हुए 27600 जुर्माना वसूला गया। पुलिस ने शहर में भी मुख्य बाजार में कपड़ा की दुकानों पर बड़ी संख्या में ग्राहकों के शरीरिक दूरी की पालना न करने पर दुकानदार के खिलाफ कार्रवाई की।इसके अलावा और को भी जुर्माना किया।

Edited By: Jagran