जागरण संवाददाता, कठुआ: जम्मू संभाग में इन दिनों शराब की सभी दुकानें बंद होने के चलते अब पंजाब से तस्करी होने लगी है।

दरअसल, शराब का सेवन करने वालों ने करीब एक माह तक दुकानें खुलने का इंतजार किया, लेकिन रोज सेवन के आदि अब शायद और लंबा इंतजार नहीं कर सकते हैं। इसी के चलते पिछले कुछ दिनों से कठुआ पुलिस द्वारा ऐसे कई शराब की तस्करी के मामले उजागर किए गए हैं, जिससे पता चलता है कि जहां पर शराब की बंद हुई दुकानों के कारण शराब पीने के आदि लोग पंजाब से मंगवाने लगे हैं। हालांकि, पहले एक सप्ताह तक तो ऐसे शराब का सेवन करने वालों ने किसी तरह से दुकानें खुलने का इंतजार किया, लेकिन अब दुकानें जल्दी नहीं खुलने के कारण वैकल्पिक व्यवस्था पंजाब से लाकर करना शुरू कर दिया है।

प्रदेश में पहली बार शराब की नई नीति लागू हुई है। इसके चलते इस बार पहले से ही चल रही शराब की दुकानों की एक साल के लिए ई-टेंडरिग हुई है, जिसमें सबसे नया बदलाव प्रदेश के बाहर के शराब कारोबारियों ने भी ई टेंडरिग से दुकानें खरीदी हैं। नियम के अनुसार दुकानें पहली अप्रैल से खुल जानी थी, लेकिन नई आबकारी नीति के कारण तय शर्तो को पूरा नहीं कर पा रहे हैं। जानकारी अनुसार जम्मू में 228 दुकानों की नीलामी हुई है, उसके बाद से अब तक टेंडर खरीदने वाले कुछ शराब व्यापारियां ने पैसे जमा भी कराए हैं। इसके बाद भी नई शर्तों को अभी तक पूरा करने में असमर्थ है। इसमें सबसे बड़ी उन्हें पुरानी दुकानें, जिस लोकेशन पर आसपास के लोगों की एनओसी के साथ थीं, अब उनके मालिक अपना लाइसेंस दूसरे द्वारा ज्यादा रेट पर खरीदने पर कारोबार बंद होने की स्थिति में दुकान उसे किराये पर भी देने के लिए तैयार नहीं है। बताया जाता है कि सौ से ज्यादा दुकानें पंजाब के एक नामी शराब के कारोबारी ने स्थानीय लोगों के नाम पर खरीदी हैं। जिनके नाम खरीदी हैं,अब उनके नाम पर नई शर्ते पूरी करने में कई झंझट हो गए हैं। ऐसे में नई लाइसेंसधारियों के लिए पुरानी जगह पर दुकान की जगह नई दुकान खरीदने पड़ेगी, जहां खरीदेंगे, वहां के आसपास के लोग भी इतनी आसानी से शराब की दुकानें खुलने नहीं देंगे।

कठुआ जिला की बात करें तो यहां 24 शराब की दुकानें थी, जो सभी नई ठेकेदारों कई गुणा अधिक बोली देकर खरीद ली है। उनमें से अभी तक 7 लोगों ने पैसा जमा कराया है,लेकिन अभी तक दुकान नहीं खोल पाये हैं।

ऐसे में एक माह से बंद शराब की दुकानें होने से इसका सेवन करने वालों के लिए परेशानी बन गई है। अब उनके पास एकमात्र पंजाब ही बचा है,लेकिन वहां से शराब लाने पर पाबंदी है। जिसके चलते तस्करी बढ़ने लगी है और आने वाले दिनों में ये और बढ़ने की संभावना है, क्योंकि सभी दुकानें इतनी जल्द खुलने की उम्मीद नहीं है। कोट्स---

जम्मू संभाग में शराब की दुकानें बंद होने के कारण अब कुछ लोग पंजाब से शराब की तस्करी करना शुरू कर दिए हैं। पुलिस उनके हर प्रयास को विफल बनाएगी। पिछले एक सप्ताह से कई ऐसे मामले पुलिस ने उजागर किए हैं और आरोपितों को शराब की खेप सहित पकड़ कर उनके खिलाफ मामला भी दर्ज किया है।

-रमेश चंद्र कोतवाल, एसएसपी, कठुआ।