जागरण टीम, कठुआ: जिले में तेज हवा के साथ हुई बारिश के कारण गत शनिवार शाम 4 बजे से गुल हुई बिजली आपूर्ति 16 घटे बाद यानि रविवार सुबह पौने बजे बहाल हो पाई। अभी भी हीरानगर के दर्जनों गावों सहित कठुआ के कालीबड़ी क्षेत्र में आपूर्ति दूसरे दिन भी बहाल नहीं हो पाई है। चड़वाल कस्बा सहित कठुआ का कालीबड़ी क्षेत्र दूसरे दिन भी अंधेरे में डूबा रहा। बारिश से जहा बिजली आपूर्ति ठप होने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं तेज हवा की वजह से जिले में सौ के करीब बिजली के खंभे व 20 ट्रासफार्मर प्रारंभिक रिपोर्ट में क्षतिग्रस्त हुई है। इसके कारण दर्जनों गावों में आपूर्ति बहाल होने में सोमवार शाम तक का समय लग सकता है।

हीरानगर स्थित रेलवे लाइन के पास क्षेत्र में आपूर्ति की जाने वाली मुख्य लाइन केबिल के पंक्चर होने से उसे बहाल करने में विभाग के कर्मचारी एवं अधिकारी मौके पर लगे रहे, लेकिन शाम तक रिपेयर नहीं हो पाई थी। जिससे चड़वाल सहित दर्जनों गावों में लोग दूसरे दिन भी अंधेरे में रहने को मजबूर हैं। इससे महिलाओं के करवा चौथ के त्योहार का मजा भी फीका रहा।

हीरानगर में बिजली विभाग के एईई रमन सिंह राठौर के अनुसार क्षेत्र के विभिन्न गावों में 80 के करीब बिजली के खंभे तारें टूट जाने से बिजली सप्लाई बंद रही। उप मंडल के तीस में से दस फीडरों में बिजली बहाल कर दी गई, जिनमें कूटा, शेरपुर, डींगा अंब, दयाला चक, चडवाल क्षेत्र में बिजली सप्लाई सुचारु हो गई है। जबकि 66 हजार केवी लाइन में फाल्ट की वजह से छनरोडिया, पहाड़पुर, साझी मोड़ रिसीविंग स्टेशनों के अंतर्गत गावों में बिजली बंद है। गावों में टूटी तारों को ठीक करने में कर्मचारी लगे हुए हैं। देर शाम तक कुछ ओर गावों में बिजली बहाल कर दी जाएगी, जिन गावों में खंभे टूटे हैं, वहा बिजली बहाल करने में समय लग सकता है। कोट्स---

प्रभावित हुई आपूर्ति बहाल करने का पूरा प्रयास किया जा रहा है, जिसमें 85 फीसद आपूर्ति बहाल हो चुकी है। 15 फीसद बहाल करने के लिए नए 100 पोल और 20 ट्रासफार्मर बदलने के बाद होगी।

-मदन लाल, कार्यकारी अभियंता, जम्मू कश्मीर पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कारपोरेशन लिमिटेड, कठुआ

बाक्स----

वृक्ष गिरने से यातायात बाधित

हीरानगर: शनिवार रात हुई तेज बारिश के साथ आधी चलने से क्षेत्र में जनजीवन अस्त-व्यस्त होकर रह गया है। आधी चलने से वृक्षों के गिरने से बिजली की तारें, खंभे टूटने से क्षेत्र में रविवार शाम तक बिजली सप्लाई बंद रहने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा और पानी की सप्लाई भी प्रभावित रही। वहीं वृक्षों के जगह-जगह गिरने से बलासा खू, मनियारी, चकडा, छनटाडा मार्ग पर वाहनों की आवाजाही शाम तक बंद रही। सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों को मार्ग बंद हो जाने पर दूसरे गावों से होकर आना जाना पड़ा।

Edited By: Jagran