जागरण संवाददाता, कठुआ: जिले में अभी भी बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर अपने घरों को लौटने के लिए प्रशासन के कार्यालयों का चक्कर लगा रहे हैं। हालांकि जिला कठुआ से प्रशासन द्वारा करीब 15 हजार प्रवासी मजदूर अपने घरों को भेजे जा चुके हैं। इसके अलावा साढ़े सात सौ से ज्यादा कटरा में श्रमिक स्पेशल ट्रेन से भेजे गए।

वीरवार को भी 86 प्रवासी मजदूर उत्तर प्रदेश के कटरा भेजे गए। इसके अलावा अभी भी बड़ी संख्या में श्रम कार्यालय कठुआ में प्रवासी मजदूर घर जाने के लिए अनुमति मांगने के लिए पहुंच रहे हैं। वीरवार को 86 मजदूरों का जत्था छत्तीसगढ़ जाने के लिए हीरानगर से कठुआ करीब 30 किलोमीटर पैदल चलकर परिवार एवं बच्चों सहित पहुंचे, ताकि उन्हें यहां से घर जाने की अनुमति मिले और वे भी ट्रेन से अपने प्रदेश को लौट सके। इससे पहले उक्त मजदूर हीरानगर एसडीएम कार्यालय गए, लेकिन वहां पर उन्हें कोई संतोषजनक जवाव नहीं मिला, इसके बाद वे कठुआ श्रम कार्यालय पहुंचे।

श्रम सहायक आयुक्त सपना ने बताया कि उन्होंने उन मजदूरों को अभी भेजने की प्रक्रिया शुरू की है, जो उनके पास अपना पंजीकरण करा रहे हैं। इसके बाद जो आएंगे, वो भी पंजीकरण करवाकर ही अब ट्रेन से वापस लौट सकते हैं। कुछ मजदूर बिना पंजीकरण कराए उनके कार्यालय में आकर उन प्रदेशों में जाने के लिए अनुमति मांग रहे हैं, जहां अभी ट्रेन अगले कुछ दिनों में नहीं जानी है, लेकिन उसका उनके पास अभी शेड्यूल नहीं है। छत्तीसगढ़ के लिए पहले ही ट्रेन द्वारा सैकड़ों मजदूर पहले ही भेजे जा चुके हैं। अब अगली ट्रेन का छत्तीसगढ़ जाने के लिए शेड्यूल आएगा, तब ही प्रक्रिया शुरू होगी। दूसरा अभी इन्होंने अपना पंजीकरण भी नहीं कराया है। सभी औपचारिकताएं पूरी होने और ट्रेन उपलब्ध होने के बाद ही भेजा जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस