संवाद सहयोगी, चड़वाल: कंडी क्षेत्र में आम की खेती को बढ़ावा देने के लिए बुद्धि गांव में एक दिवसीय जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मैंगो विलेज योजना के तहत बागवानी विभाग ने कार्यक्रम का आयोजन किया, जिसमें एडीसी घनश्याम सिंह मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित हुए। ग्रामीणों को क्षेत्र में आम की पैदावार बढ़ाने के लिए जानकारी दी गई।

विभाग के जिला अधिकारी सुशील कुमार अंगुरना की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम के दौरान विभाग के विशेषज्ञ अनिल मल्होत्रा ने कहा कि कंडी क्षेत्र में पड़ने वाले इलाकों में आम की फसल बहुत होती है। अगर क्षेत्र के लोग यहां पैदा होने वाले परंपरागत देसी आम के बजाए उन्नत किस्म के आमों के बाग लगाए तो उन्हें अच्छी आमदनी हो सकती है। उन्होंने कहा कि सिचाई क्षेत्र न होने के कारण इलाके में बहुत सी ऐसी जमीने पड़ी है, जहां पर थोड़े से प्रयास के बाद बाग लगाए जा सकते हैं। अगर ऐसा किसान करते हैं तो यहां की कि बेकार पड़ी भूमि भी उनके लिए रोजगार का साधन बन सकती है।

वहीं इस मौके पर विभाग के जिला बागवानी अधिकारी सुशील कुमार अंगुराना ने उनके विभाग के माध्यम से आम की खेती को बढ़ावा देने के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि उनके विभाग के माध्यम से आम के बाग लगाने तक उसकी सिचाई व्यवस्था के साथ-साथ बाघों के बाढ़ लगाने के लिए सब्सिडी पर आर्थिक सहायता दी जाती जा रही है। जिसका लोग उनके कार्यशाला में लाभ उठा सकते हैं उन्होंने मौके पर आए हुए किसानों को कहा कि विभाग की योजनाओं का लाभ उठाएं और क्षेत्र में होने वाली आम की फसल को और बेहतर बनाने के लिए योगदान दें वहीं इस मौके पर एडीसी कठुआ घनश्याम सिंह ने विभाग के प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि इस तरह के कार्यक्रम के माध्यम से क्षेत्र के लोगों को रोजगार का बेहतर साधन उपलब्ध हो सकता है ।यह तभी संभव है जब लोग इन सरकारी योजनाओं के प्रति जागरूक हो तभी इन योजनाओं का मकसद पूरा हो सकता है उन्होंने जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन करने पर बागवानी विभाग का प्रोत्साहन करते हुए कहा कि इस तरह की कार्य करते रहने चाहिए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप