जम्मू, जेएनएन। जम्मू-कश्मीर में पिछले दो दिनों से जारी बारिश व बर्फबारी के बाद आज बुधवार से मौसम में सुधार होना शुरू हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार अब 11 जनवरी तक मौसम इसी तरह शुष्क रहेगा। जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर भूस्खलन के कारण गिरे मलवे को हटा लिया गया है आैर फंसे वाहनों को निकालने के लिए इसे आंशिक तौर पर खोल दिया गया है। ट्रैफिक विभाग का कहना है कि फंसे वाहन निकलने के बाद ही दूसरे वाहनों को सड़कों पर उतरने की इजाजत दी जाएगी। फिलहाल वाहनों को जम्मू व उधमपुर में ही रोका गया है।

पिछले दो दिनों से जारी बारिश व बर्फबारी के बाद एक बार फिर ठंड बढ़ गई है। श्रीनगर में रात का सबसे कम तापमान शून्य से 0.4 डिग्री सेल्सियस कम था, जबकि दक्षिण कश्मीर के काजीगुंड में पारा शून्य से 0.4 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया। उत्तरी कश्मीर में प्रसिद्ध पर्यटन स्थल गुलमर्ग का तापमान शून्य से कम -7.6 डिग्री सेल्सियस, पहलगाम का -2.0 डिग्री, कोकेरनाग का - 4.0 डिग्री सेल्सियस जबकि उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा शहर में कल रात को तापमान -2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वहीं जम्मू की बात करें तो आज यहां ठंड से कुछ हद तक राहत है। दो दिनों के बाद लोगों को सूरज के दर्शन हुए हैं। हालांकि यहां भी कल रात को न्यूनतम तापमान 7.7 डिग्री सेल्सियस रहा। इसी तरह कटरा कस्बे का तापमान 5.3, बटोत का -2.3, बनिहाल 0.0 और भद्रवाह का -0.7 डिग्री सिल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर के निदेशक सोनम लोटस ने बताया कि 11 जनवरी तक घाटी के अधिकांश हिस्सों में इसी तरह मुख्य रूप से ठंड और शुष्क मौसम की संभावना है।

वहीं पिछले तीन दिनों से जम्मू-श्रीनगर हाइवे बंद होने के कारण पांच हजार से अधिक वाहन दोनों आेर रोके गए हैं। आज दोपहर बाद डिगडोल इलाके में मलवा हटते ही फंसे वाहनों को निकालने का काम शुरू कर दिया गया। ट्रैफिक विभाग का कहना है कि यही सिलसिला कल भी जारी रहेगा। उसके बाद नए वाहनों को सड़कों पर छोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि जवाहर टनल पर गिरी बफर् को भी हटा दिया गया है।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस