जम्मू, जागरण संवाददाता। पिछले दो दिनों में जम्मू-कश्मीर के पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फबारी और बारिश के बाद मंगलवार को खिली धूप ने लोगों को राहत प्रदान की। हालांकि अभी भी जम्मू-कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग, लेह-श्रीनगर और पुंछ से कश्मीर को जोड़ने वाला मुगल रोड़ बंद है। बनिहाल से कश्मीर जाने वाली रेल सेवा भी अभी शुरू नहीं हो पाई है। वहीं दो दिन बाद कश्मीर में मौसम में आए सुधार के बाद हवाई यातायात भी बहाल कर दिया गया है।

पिछले 24 घंटों में हुई बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया था। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के अलावा संभाग के कई पहाड़ी जिलों के मुख्य मार्ग पर भूस्खलन होने के कारण यातायात ठप हो गया है। जवाहर टनल की कांजीगुंड की ओर से दोनों ट्यूब पर हिमस्खलन होने से उसमें कई वाहन फंस गए। बचाव दल ने मौके पर पहुंच बचाव कार्य शुरू कर वाहनों को निकाला लेकिन राष्ट्रीय राजमार्ग बंद रहा। मौसम विभाग के अनुसार मौसम में सुधार शुरू हो गया है। अब अगले पश्चिमी विक्षोभ के दवाब के बाद ही बारिश की संभावना है।

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद सोमवार सुबह से जारी बर्फबारी के बाद जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित जवाहर टनल के पास हिमस्खलन हुआ है। हालांकि मौसम खराब होने के कारण इस मार्ग पर सोमवार से ही वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई थी। हिमस्खलन के कारण जवाहर टनल की काजीगुंड की ओर से दोनों ट्यूब बंद हो गई हैं। टनल में कई वाहन फंस गए। बचाव दल ने मौके पर पहुंच टनल में फंसे लोगों को बाहर निकाला। जवाहर टनल बंद होने के कारण दोनों ओर से सैकड़ों वाहन फंसे हुए हैं। बीआरओ के कर्मचारी मलवे को रोड से हटाने का काम जारी है।

ट्रैफिक कंट्रोल रूम से मिली जानकारी अनुसार विभाग ने मौसम साफ होने तक लोगों को राष्ट्रीय राजमार्ग पर न निकलने की सलाह दी है। उनका कहना है कि बर्फबारी व बारिश के कारण मार्ग पर काफी फिसलन हो गई है। रास्ता साफ करने का काम तेजी से जारी है। कोशिश रहेगी आज पंसी गाड़ियों को निकाला जा सके। पिछले 24 घंटों में जम्मू में 40.3 एमएम, श्रीनगर में 62.1 एमए बारिश दर्ज की गई।

 

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस