राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : राज्य में दो दिनों की बारिश और बर्फबारी के बाद शुक्रवार को भी जम्मू में धूप खिली रही, लेकिन ठंडी हवाओं से लोगों को राहत नहीं मिली। अधिकतम तापमान में हल्की बढ़ोतरी हुई है, लेकिन न्यूनतम तापमान में भारी गिरावट आई है। कश्मीर संभाग में गुलमर्ग माइनस 13.6 डिग्री सेल्सियस के साथ राज्य में सबसे ठंडा क्षेत्र रहा।

इस बीच मौसम साफ रहने पर शुक्रवार को भी जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर चार दिनों से फंसी गाड़ियों को निकाला गया। श्रीनगर-लेह और पुंछ से कश्मीर को जोड़ने वाला मुगल रोड खुलने के अभी आसार नहीं हैं। एसएसपी नेशनल हाईवे जेएस जौहर ने बताया कि बटोत से बनिहाल तक फिसलन के चलते गाड़ियों को निकालने की प्रक्रिया धीमी है। इसके बावजूद फंसी गाड़ियों को निकाला जा रहा है। जम्मू से श्रीनगर के लिए छोटी गाड़ियों को भी छोड़ा गया है। शुक्रवार को मौसम साफ रहने पर कश्मीर से जम्मू के लिए छोटी गाड़ियों को छोड़ा जा सकता है। सभी यात्रियों से कहा गया है कि वह यात्रा शुरू करने से पहले ट्रैफिक कंट्रोल रूम से पूरी जानकारी प्राप्त कर ही यात्रा शुरू करें।

पहाड़ी क्षेत्रों में दिनभर खिली धूप से बर्फ पिघलने के कारण शीतलहर का प्रकोप जारी रहा। लेह का न्यूनतम तापमान माइनस 11.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। जम्मू का अधिकतम तापमान 15.8 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। श्रीनगर का अधिकतम तापमान 6.0 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान माइनस 3.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

इटली से मंगवाई गई मशीन राजमार्ग से हटाएगी बर्फ

कश्मीर में हुई बर्फबारी के कारण कई अहम राजमार्ग और संपर्क मार्ग बंद हो गए हैं। अब इन सड़कों को खोलने के लिए बॉर्डर रोड आर्गेनाइजेशन (बीआरओ) ने हाईटेक मशीनें लगाई हैं। यह मशीनें तीन घंटे में एक किलोमीटर सड़क से बर्फ को साफ कर देती हैं। यह इटली से मंगवाई गई हैं। चार मशीनें आ गई हैं। अभी तीन का इंतजार है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस