संवाद सहयोगी, बसोहली : बसोहली तहसील अंतर्गत पड़ने वाले सांधर गांव के खबल मोड़ा में लगा ट्रांसफार्मर पिछले दिनों जल गया था। 18 मई को उसे बदला गया, लेकिन दो दिन में ही 20 मई को फिर जल गया। उसके बाद से उसे ठीक करने या बदलने की पहल नहीं की जा रही है। डायरेक्ट 440 वोल्ट की सप्लाई हो जाने से कई लोगों के घरों में बिजली के उपकरण जल गए।

पंचायत के सरपंच का आरोप है कि बिजली निगम के एईई एवं एक्सइएन फोन ही नहीं उठा रहे हैं। सांधर के सरपंच कल्याण सिंह ने कहा कि विभाग जल्द से जल्द इस ट्रांसफार्मर को बदले और इसका स्थायी समाधान करे। यदि जल्द से जल्द इस समस्या का समाधान नहीं हुआ तो विभाग के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा। सरपंच और स्थानीय निवासी शशि बाला, सतीश कुमार वर्मा, पुरषोतम आदि ने बताया कि 18 मई को उनके गांव का ट्रांसफार्मर जल गया। इसकी मरम्मत के दौरान लाइनमैन जख्मी भी हो गया। इसके बाद बिजली निगम ने 20 मई को दूसरा ट्रांसफार्मर लगवाया। लेकिन वह भी जल गया। उसे ठीक करने का प्रयास विभाग के कर्मचारियों ने की, लेकिन वह ठीक नहीं हुआ। डायरेक्ट 440 वोल्ट का करंट सप्लाई हो रही है, जिससे बिजली के उपकरण जल रहे हैं। सिर्फ एक फेस से ही 220 वोल्ट निकल रहा है। बिजली निगम के एईई एवं एक्सइएन सरपंच का फोन ही नहीं उठा रहे हैं। अब ऐसी परिस्थिति में लोग बात किससे करे। ग्रामीणों का कहना है कि गर्मी के दिनों में रात के अंधेरे में जहरीले-सांप बिच्छू आदि भी देखने को मिल रहे हैं। इसलिए तुरंत बिजली व्यवस्था दुरुस्त करनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि स्थानीय लाइनमैन जो यहां पर काम करते थे, उन्हें अब बनी तहसील में तैनात कर दिया है, इससे यहां के लोगों की परेशान और बढ़ गई है।