जम्मू, जेएनएन। Sushma Swaraj Passes Away: पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन से जम्मू-कश्मीर प्रदेश भाजपा में शोक की लहर दौड़ गई है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रविन्द्र रैना ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश घोषित किए जाने के बाद आज पार्टी मुख्यालय में बुलाई गई पत्रकारवार्ता व जश्न की तैयारियों को यह दुखद समाचार प्राप्त होने के बाद रद कर दिया है। यही नहीं वह भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए दिल्ली के लिए भी रवाना हो गए।

सुषमा का मंगलवार देर रात दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। वह 67 साल की थीं और काफी समय से बीमार चल रही थीं। उनका किडनी ट्रांसप्लांट भी हुआ था। बीमारी के कारण ही उन्होंने खुद को वर्ष 2019 लोकसभा चुनाव से अलग रखा था। वर्ष 2014 में उन्हें विदेश मंत्रालय का प्रभार मिला था। जम्मू कश्मीर की राजनीति से सुषमा का काफी जुड़ाव रहा। उन्होंने सोमवार को ही अनुच्छेद-370 और 35ए को समाप्त करने के फैसले का स्वागत किया था। सुषमा ने इसे साहसिक और ऐतिहासिक फैसला बताया था। उन्होंने अनुच्छेद 370 को रद करने के तुरंत बाद ट्वीट किया था।

केंद्र में बड़ी जिम्मेदारियां मिलने से पूर्व सुषमा कई बार जम्मू दौरे पर आ चुकी थीं। वर्ष 2002 के चुनाव में उन्होंने जम्मू में चार दिन तक पार्टी प्रत्याशियों के पक्ष में प्रचार किया था। उन्होंने जम्मू, नगरोटा व कई अन्य क्षेत्रों में जनसभाओं को संबोधित किया था। पार्टी की वरिष्ठ नेता के निधन पर दिल्ली रवाना होने से पहले शोक प्रकट करते हुए प्रदेश अध्यक्ष रविन्द्र रैना ने कहा कि उनके निधन से देश को जो क्षति पहुंची है, उसकी कभी पूर्ति नहीं हो सकती। आज देश ने एक महान नेता खो दिया है। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 व 35ए के खत्म होने पर आज बुधवार को पार्टी मुख्यालय में आयोजित होने वाले सभी कार्यक्रम रद कर दिए गए हैं।

पूर्व उपमुख्यमंत्री कविन्द्र गुप्ता ने कहा कि स्वर्गीय सुषमा स्वराज महिला सशक्तिकरण का प्रतीक थी। उनका जम्मू के साथ बहुत ही लगाव रहा है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर में पार्टी का जनाधार मजबूत बनाने के लिए यहां कई बार चुनाव प्रचार भी किया। उन्होंने कहा कि पार्टी ने आज अपना महान नेता खो दिया है।

पूर्व मंत्री चंद्र प्रकाश गंगा ने भी पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया और कहा कि भारतीय राजनीति के एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया।

प्रदेश भाजपा के संगठन महामंत्री अशोक कौल ने कहा कि सुषमा स्वराज के निधन से भाजपा को जो क्षति पहुंची है, उसकी भरपाई कर पाना मुश्किल है। सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन से उन्हें गहरा आघात लगा है। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप