श्रीनगर, एएनआई। जम्मू-कश्मीर में 15 अगस्त से एक दिन पहले पहले शुक्रवार को श्रीनगर के बाहरी इलाके नौगांम में पुलिस टीम पर हुए आतंकियों के हमले में 2 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। हमले में एक पुलिसकर्मी घायल हुआ है। इलाके की घेराबंद कर ली गई है और सर्च ऑपरेशन जारी है। आतंकियों ने नौगाम में 15 अगस्त के लिए सुरक्षा में तैनात पुलिस पार्टी पर हमला किया। श्रीनगर के नौगाम बाइपास पर शुक्रवार सुबह आतंकी हमला हुआ है। 

कश्मीर जोन पुलिस के अनुसार, नौगांम बाइपास के पास नाके पर आतंकियों ने पुलिस पार्टी पर गोलाबारी की। इस हमले में तीन जवान घायल हो गए जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां दो जवानों ने दम तोड़ दिया।

सर्च ऑपरेशन जारी

15 अगस्त से एक दिन पहले आतंकी हमले से कश्मीर में हलचल तेज है। इससे पहले गुरुवार को श्रीनगर के शहीदगंज इलाके में आतंकियों की मौजूदगी के बाद सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया था।

बताया जा रहा है कि बारामुला के डॉगी पहाड़ी इलाके में सुरक्षाबलों ने एक तलाशी अभियान के दौरान 10 ग्रेनेड दो डेटोनेटर दो रेडियो सेट तीन पिस्तौल और असाल्ट राइफल के कारतूस के अलावा पाकिस्तानी करंसी भी बरामद की है। 

श्रीनगर में 15 अगस्त को कार्यक्रम

इलाके में आतंकी हलचल देखी गई थी जिसके बाद पुलिस और सेना ने पूरे इलाके को घेरकर ऑपरेशन शुरू कर दिया था लेकिन अभी आतंकियों के साथ कोई मुकाबला नहीं हुआ। बता दें कि शनिवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर श्रीनगर सिटी में प्रदेश का मुख्य कार्यक्रम होना है। यहां पर नए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा को ध्वजारोहण करना है। 

स्वतंत्रता दिवस पर बड़े आतंकी हमले की साजिश नाकाम

जानकारी हो कि सुरक्षाबलों ने स्वतंत्रता दिवस पर कश्मीर में बड़े आतंकी हमले की साजिश को नाकाम बनाते हुए वीरवार को अवंतीपोरा में दो भूमिगत आतंकी ठिकानों से भारी मात्रा में हथियार व गोलाबारूद बरामद किया है। एक ठिकाने में चार से छह लोग एक साथ रह सकते थे, जबकि एक अन्य बहुत छोटा था। सुरक्षाबलों ने हथियार बरामद कर दोनों ठिकानों को नष्ट कर दिया।

एसएसपी अवंतीपोरा ताहिर सलीम ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस पर वादी में विशेषकर दक्षिण कश्मीर में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की आतंकी साजिश के बारे में हमे पता चला था। इसके आधार पर हमने आतंकियों के नेटवर्क से जुड़े संदिग्ध लोगों की निगरानी शुरू की। बीती रात हमने त्राल से दो ओवरग्राउंड वर्करों (ओजीडब्ल्यू) को पकड़ा। उनसे पूछताछ हुई तो उन्होंने अवंतीपोरा के बारसू में लश्कर के एक ठिकाने की जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि आतंकी किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए साजो -सामान संग जमा हो रहे हैं। इसके बाद सेना के साथ मिलकर अभियान चलाया गया। बारसू गांव के बाहरी छोर पर जंगल के साथ एक बाग में आतंकियों का ठिकाना मिला। यह ठिकाना जमीन खोदकर बनाया था। इससे कुछ ही दूरी पर एक और आतंकी ठिकाना था। सुरक्षाबलों के पहुंचने से पहले ही आतंकी इन ठिकानों से भाग चुके थे। उन्हें पकड़ने के लिए तलाशी अभियान जारी रखा गया है।

आतंकी ठिकानों से बरामद सामान :

एसएसपी ने बताया कि आतंकी ठिकानों की तलाशी के दौरान असाल्ट राइफल के 1918 कारतूस, दो हैंड ग्रेनेड, एक यूबीजीएल थ्रोअर, चार यूबीजीएल ग्रेनेड, जिलेटिन की पांच छड़ें, दो पाइप बम, आधा किलो अमोनयिम नाइट्रेड, आतंकी कमांडरों द्वारा आपसी बातचीत के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले कोड भाषा के तीन शीट, राशन, दवाएं, बिस्तर, गैस स्टोव, सिलेंडर और भारतीय करंसी में 5400 रुपये की नकदी भी मिली है।

बड़गाम में आतंकियों की तलाश में अभियान :

बड़गाम जिले के तुलसरा इलाके में तड़के तीन आतंकियों के अपने किसी संपर्क सूत्र के पास आने की खबर मिलते ही सेना और पुलिस ने तलाशी अभियान चलाया। सुरक्षाबलों ने दोपहर तक सभी संदिग्ध मकानों की तलाशी ली, लेकिन आतंकियों का कोई सुराग नहीं मिलने पर सुरक्षाबलों ने घेराबंदी हटा दी थी।

पूरे कश्मीर में बढ़ाई गई सुरक्षा व्यवस्था :

कश्मीर में आतंकियों द्वारा स्वतंत्रता दिवस के मौके पर विध्वंसकारी गतिविधियों को अंजाम दिए जाने की रची जा रही साजिशों का संज्ञान लेते हुए प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। श्रीनगर समेत वादी के सभी प्रमुख शहरों व कस्बों में चौकसी बरती जा रही है। शेरे कश्मीर स्टेडियम समेत वादी के उन सभी मैदानों को सुरक्षाबलों ने सील कर दिया है, जहां स्वतंत्रता दिवस का मुख्य समारोह होना है। सभी सैन्य शिविरों, पुलिस थानों और अन्य महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा को भी बढ़ाया गया है। शरारती तत्वों की निगरानी के लिए सीसीटीवी से भी निगरानी की जा रही है।

यह भी देखें: Nowgam में आतंकी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद एक घायल

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस