संवाद सहयोगी, श्रीनगर : घाटी से हवाई उड़ाने बंद होने के मौके का फायदा उठाते हुए टैक्सी ऑपरेटर किराये में भी बढ़ोतरी कर दी है। श्रीनगर से जम्मू के किराये में सामान्य से दो से तीन गुना तक बढ़ोतरी कर यात्रियों को लूटा जा रहा है। अपने गंतव्यों तक पहुंचने के लिए यात्रियों को भी मजबूर होकर टैक्सी ऑपरेटरों को मुंह मांगा किराया देना पड़ रहा है।

उल्लेखनीय है कि घनी धुंध के कारण श्रीनगर एयरपोर्ट पर विजीबिलिटी कम होने से छह दिसंबर से विमानों की उड़ानें बंद हैं। इससे देश-दुनिया के अन्य हिस्सों का रुख करने वाले यात्रियों को मजबूर होकर श्रीनगर-जम्मू हाईवे से सफर करना पड़ रहा है। फिर जम्मू एयरपोर्ट से दूसरी स्थानों की फ्लाइट लेनी पड़ रही है। ऐसे में परेशानियों से जूझते यात्रियों की मजबूरी का वाहन चालक फायदा उठा रहे हैं।

मुनीर बशीर नामक एक यात्री ने कहा, ''मुझे मां का दिल्ली में चेकअप करवाना था। मुश्किल से आठ दिसंबर की एप्वांइटमेंट फिक्स हुई थी। उसी दिन सुबह श्रीनगर एयरपोर्ट गए, लेकिन फ्लाइट रद होने पर वहां से वापस आना पड़ा। मजबूर होकर हाईवे का रास्ता चुनना पड़ा और इसके लिए एक सूमो का सहारा लिया। सूमो चालक ने हमसे एक-एक यात्री के 2500-2500 रुपये वसूले। उसने कहा कि आम दिनों में श्रीनगर से जम्मू का किराया 800 से 1000 रुपये वसूला जाता था, लेकिन इस बार टैक्सी ऑपरेटर लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर लूट रहे हैं।

सदफ नाज नामक एक युवती ने कहा, ''मैं नोएडा में एक कंपनी में काम करती हूं। कुछ दिन छुट्टी पर घर आई थी। 10 दिसंबर को मुझे वापस आफिस में रिपोर्ट करना था। उस दिन के लिए फ्लाइट में सीट कन्फर्म करवाई थी, लेकिन फ्लाइट रद हो गई। मुझे मजबूर होकर दिल्ली गाड़ी से ही जाना पड़ा। गाड़ी वाले ने मुझसे श्रीनगर से जम्मू के 2700 रुपये वसूले। सदफ ने कहा कि जब गाड़ी के चालक से पूछा कि इतना किराया क्यों? तो चालक का जवाब था, ''हवाई जहाज का ही इंतजार करो फिर।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस