श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए पांच आतंकियों के विरोध में दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग और कुलगाम में बंद का असर जिला शोपियां के कई हिस्सों में रहा। बंद के दौरान कुलगाम के कुछ हिस्सों में छिटपुट पथराव की घटनाओं को छोड़ स्थिति शांत रही।

बनिहाल-बारामुला रेल सेवा दूसरे दिन भी बंद रही। पुलवामा, श्रीनगर, बड़गाम और उत्तरी कश्मीर में जनजीवन सामान्य रहा।

गौरतलब है कि शनिवार को सुरक्षाबलों ने दक्षिण कश्मीर के चौगाम, कुलगाम में लश्कर व हिज्ब के पांच आतंकियों को मार गिराया था। इनमें से चार जिला कुलगाम के रहने वाले थे, जबकि एक अनंतनाग का रहने वाला था। इन आतंकियों की मौत के बाद भड़की हिंसा में एक प्रदर्शनकारी मारा गया और दो दर्जन से अधिक लोग जख्मी हुए थे।

शनिवार सुबह से रविवार तक कुलगाम और अनंतनाग बंद रहा। बंद से प्रभावित इलाकों में कोई दुकान नहीं खुली। रविवार होने के कारण शिक्षण संस्थान और सरकारी कार्यालय बंद थे। सिर्फ राष्ट्रीय राजमार्ग पर ही वाहनों की आवाजाही रही, लेकिन अनंतनाग व कुलगाम के भीतरी इलाकों में वाहनों की आवाजाही ठप रही। प्रशासन ने रविवार को सभी संवदेनशील इलाकों में निषेधाज्ञा को जारी रखा।

कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवानों को विभिन्न इलाकों में तैनात किया गया था। अनंतनाग में स्थिति लगभग शांत रही, लेकिन कुलगाम के रेडवनी, अडिजन, हावूरा और उससे सटे इलाकों में कुछ शरारती युवकों के अलग-अलग गुट जुलूस की शक्ल में निकले।

राष्ट्रविरोधी नारेबाजी करते हुए इन लोगों ने सुरक्षाबलों पर पथराव भी किया, लेकिन सुरक्षाबलों ने त्वरित कार्रवाई कर उन्हें खदेड़ दिया।

पुलिस नियंत्रण कक्ष में मौजूद अधिकारी के अनुसार बंद का प्रभाव सिर्फ अनंतनाग और कुलगाम में रहा। श्रीनगर समेत अन्य इलाकों में जनजीवन सामान्य रहा। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप