संवाद सहयोगी, मीरां साहिब : गाजीपुर कुलिया गांव के पास कुछ लोगों ने वीरवार देर रात स्कार्पियो का रास्ता रोककर गाड़ी चला रहे प्रापर्टी डीलर पर तेजधार हथियार टोके से हमला कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। इसके बाद हमलावरों ने प्रापर्टी डीलर से छह लाख रुपये छीन लिया और फरार हो गए। घायल की पहचान संदीप सिंह निवासी सरोर के रूप में हुई है। वहां से गुजर रहे किसी व्यक्ति ने जब संदीप को लहूलुहान हालत में सड़क पर पड़े देखा तो उसने पुलिस को सूचित किया। इसके बाद पुलिस ने उसे इलाज के लिए जीएमसी जम्मू में भर्ती करवाया।

संदीप ने पुलिस को एक हमलावर सिंह कैंप के दिलबाग सिंह के बारे में बताया है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। जानकारी के अनुसार संदीप अपनी स्कार्पियो गाड़ी से नडी गांव की ओर जा रहा था। इसी बीच गाजीपुर कुलिया के पास सड़क पर अचानक एक अल्टो कार में सवार तीन लोगों ने संदीप सिंह की गाड़ी को रोका और उसे बाहर निकाला। संदीप का कहना है कि अल्टो कार में सवार दिलबाग और उसके साथियों ने उस पर तेजधार हथियार से कई बार वार किया, जिससे वह लहूलुहान होकर सड़क पर गिर गया। इसके बाद सभी हमलाकर उसके पास मौजूद छह लाख रुपये छीन कर फरार हो गए।

संदीप का बयान लेकर पुलिस ने दो हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है, हालांकि उसके नाम पुलिस नहीं बता रही है। पुलिस ने आरोपितों से एक कार भी जब्त की है। ऐसा बताया जा रहा है कि हमलावर इसी कार में सवार होकर वारदात करने गए थे। वहीं, मुख्य हमलावर दिलबाग सिंह शुक्रवार देर शाम तक भी पुलिस की पकड़ में नहीं आया था। उस गिरफ्तार करने के लिए पुलिस उसके छिपने के हर संभावित ठिकाने पर दबिश दे रही है। थाना प्रभारी जहीर मुश्ताक ने बताया कि पुलिस ने घायल के बयान के आधार पर मामला दर्ज कर दो आरोपितों को पकड़ा है। हमले के मुख्य आरोपित दिलबाग को पकडऩे के लिए रात भर पुलिस छापेमारी करती रही, लेकिन वह पकड़ में नहीं आया।

प्रापर्टी डीलर की आरोपित से पहले थी अच्छी दोस्ती

सूत्रों के मुताबिक, हमले में घायल संदीप प्रापर्टी डीलिंग का काम करता है। वह इस क्षेत्र में काफी लंबे समय से काम कर रहा है। दिलबाग सिंह से उसकी पुरानी दोस्ती है, लेकिन यह नहीं साफ हुआ है कि दोनों के बीच कारोबार को लेकर कोई रंजिश है या कोई और बात है। थाना प्रभारी जहीर मुश्ताक के अनुसार संदीप सिंह और दिलबाग सिंह पहले दोस्त रहे हैं। ऐसे में किस बात पर उनकी दोस्ती दुश्मनी में बदल गई, इस बारे में पकड़े गए आरोपितों से पूछताछ कर पता लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि मुख्य आरोपित की गिरफ्तारी के बाद इस राज पर से पर्दा हट सकेगा।

Edited By: Lokesh Chandra Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट