श्रीनगर, जेएनएन। जिला बारामुला के सगीपोरा इलाके में सेना ने समय रहते आतंकवादियों की एक बड़ी साजिश को नाकाम बना दिया है। सेना की रोड आपनिंग पार्टी ने निरीक्षण के दौरान सोपोर-कुपवाड़ा हाइवे पर आतंकियों द्वारा बिछाई गई आइईडी काे ढूंढ निकाला। समय पर उस आइईडी को निष्क्रिय बनाकर एक बड़े हादसे को रोक लिया गया। आतंकवादियों ने ये आइईडी सैन्य काफिले को निशाना बनाने के इरादे से लगाई हुई थी।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार यह आइईडी शनिवार सुबह ही बरामद की गई। सेना का रोड आेपनिंग दल जब सोपोर-कुपवाड़ा हाइवे पर सगीपोरा क्षेत्र से गुजर रही थी, तो उनके डिटैक्टर ने सड़क में बिछार्इ गइ आइईडी होने का संकेत मिला। जवानों ने तुरंत हाइवे पर वाहनों की आवाजाही को रोक दिया और इस बारे में बम निष्क्रिय दस्ते को सूचित किया। दल के जवान जब मौके पर पहुंचे तो उन्होंने सड़क को खुदा पाया। खुदाई करने में उसमें शक्तिशाली आइईडी बरामद की गई।

सेना, सीआरपीएफ और एसओजी के जवानों ने सगीपोरा गांव की घेराबंदी कर आतंकवादियों की तलाश भी शुरू कर दी। फिलहाल अभी तक किसी आतंकी के पकड़े जाने की सूचना नहीं है। इस बीच बम निष्क्रिय दस्ते ने आइईडी को सुरक्षित स्थान पर ले जाकर उसे निष्क्रिय बना दिया। पुलिस का कहना है कि इस मार्ग पर आम लोगों के अलावा सेना की कानवाई भी गुजरती है। आज सुबह सेना का काफिला यहां से मूव करना था। शायद आतंकवादियों को इस बात की भनक लग गई थी। परंतु वे नहीं जानते थे कि काफिला गुजरने से पहले सेना की रोड आेपनिंग पार्टी हाइवे का मुआयना करती है। बस इस दौरान इस आइईडी का पता लगा लिया गया।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह आइईडी काफी शक्तिशाली थी। अगर इसकी चपेट में आम नागरिक वाहन या सैन्य वाहन आ जाता तो काफी नुकसान होता। सेना के जवानों ने समय रहते इस आइईडी का पता लगाकर बड़ी त्रासदी को घटने से रोक लिया।

यह पहला मौका नहीं है जब आतंकियों ने सेना व आम लोगों को निशाना बनाने के लिए हाइवे पर आइईडी लगार्इ है। इससे पहले 25 नवंबर को भी आतंकवादियों ने इसी तरह अनंतनाग में हाइवे पर आइईडी लगाइ थी। यह आइईडी कुकर में लगाइ गइ थी। अनंतनाग पुलिस ने समय रहते इसका पता लगाया लिया आैर बड़े हादसे को घटित होने से बचा लिया। पुलिस का कहना है कि कश्मीर में सामान्य होते हालात देख आतंकी हताश हो चुके हैं। एेसे में वह इस तरह की वारदात को अंजाम देकर कश्मीर में अपना दबदबा काम करने की लगातार कोशिश कर रहे हैं। परंतु चौकस सुरक्षाबलों की वजह से उन्हें हर बार मुंह की खानी पड़ रही है।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस