जागरण संवाददाता, जम्मू : जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित झज्जर कोटली क्षेत्र में हुए आतंकी हमले के बाद जम्मू जिले में हाई अलर्ट कर दिया है। सैन्य, पुलिस प्रतिष्ठानों के अलावा संवदेनशील इमारतों की सुरक्षा कड़ी कर दी है। सुरक्षा कारणों से जम्मू से किसी भी वाहन को नगरोटा के आगे नहीं जाने दिया गया। टिकरी से पीछे जम्मू आ रहे वाहनों को रोका गया। जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के दोनों तरफ वाहनों की कतारें लग गई। सुबह जैसे ही झज्जर कोटली में आतंकी हमले की सूचना मिली तो माता वैष्णो देवी के आधर शिविर कटड़ा के अलावा जम्मू श्रीनगर हाईवे पर स्थित सभी जिलों सांबा, कठुआ, ऊधमपुर, व रामबन में सुरक्षा बलों ने सुरक्षा बलों के शिविर, पुलिस थानों और नाकों को अलर्ट कर दिया। आतंकियों की संख्या तीन बताई जाती है। तीनों का पता नहीं चल पाया है।

ऊधमपुर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी जगह-जगह पुलिस ने नाके लगाकर वाहनों की तलाशी शुरू कर दी है। देर शाम तक राजमार्ग पर सेना ने भी सुरक्षा का जिम्मा संभाल आतंकियों की तलाश में अभियान शुरू कर दिया है। आतंकियों के मौके से फरार हो जाने की सूचना के बाद शहर के प्रवेशद्वार नगरोटा, मांडा नाका, कुंजवानी, सतवारी, नरवाल बाईपास पर भी विशेष नाके लगाए गए। बिक्रम चौक, इंदिरा चौक, सर्कुलर रोड, अंबफला आदि कई इलाकों में भी पुलिस ने किलेबंदी कर दी। सभी संवेदनशील इलाकों में सतर्कता बढ़ा दी गई ताकि कोई संदिग्ध इन इलाकों में घुस किसी वारदात को अंजाम न दे पाए। शहर में दिन भर बख्तरबंद गाड़ियों को घुमते हुए देखा गया, ताकि यदि आतंकियों के बारे में जानकारी मिलती है तो उनके विरुद्ध मौके पर कार्रवाई की जाए। कोई संदिग्ध दिखे तो पुलिस को करें सूचित

एसएसपी जम्मू विवेक गुप्ता का कहना है कि जैसे ही आतंकी हमले की सूचना मिली तो सभी थानों व चौकियों को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश जारी कर दिए। राजमार्ग पर सुरक्षा के विशेष बंदोबस्त किए हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि यदि उन्हें कोई संदिग्ध दिखता है तो उसकी जानकारी तुरंत पुलिस को दे। सूचना देने वाले व्यक्ति को पुलिस विभाग की ओर से सम्मानित किया जाएगा।

Posted By: Jagran