जम्मू, राज्य ब्यूरो: सेना की उत्तरी कमान जम्मू-कश्मीर में आवाम को देश के दुश्मनों से बचाने के साथ कोरोना से भी महफूज रखने के लिए जोर लगा रही है। सेना के मेडिकल पेट्रोल दूरदराज इलाकों में लोगों तक पहुंच कर उन्हें सावधान कर रहे हैं। सेना ने प्रदेश में लोगों के साथ बेहतर समन्यव बनाकर कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने का लक्ष्य रखा है।

ऐसे हालात में सेना के अस्पतालों में डाक्टर व नर्सिंग स्टाफ, सैन्यकर्मियों, पूर्व सैनिकों व उनके परिजनों को बचा रहे हैं तो सैन्य यूनिटों के मेडिकल पेट्रोल उन लोगों को जागरूकता से बचाने की कोशिश कर रहे हैं जिनके पास स्वास्थ्य सुविधाएं की कमी है।

कोरोना के खिलाफ सेना की सोलह कोर की मुहिम के तहत सेना की मेडकिल पेट्रोल शनिवार को रामबन के गूल इलाके के गागरा पहुंची। क्षेत्र के अष्टनमर्ग इलाके से पहुंची सेना की टीमों ने लोगों के स्वास्थ्य की जांच करने के साथ उनमें दवाईयां भी बांटी। कुल मिलकर क्षेत्र के 40 लोगों ने इस मुहिम का फायदा उठाया।

इस दौरान लोगों को कोरोना से बचाव के बारे में जागरूक करने के साथ उन्हें वैक्सीनेशन के बारे में भी जानकारी दी गई। सेना ने लोगों से कहा कि लोग स्वास्थ्य केंद्रों, उप जिला अस्पताल तक पहुंचकर कोरोना से बचाव के लिए जल्द से जल्द वैक्सीनेयान करवाए। इस दौरान दूरदराज इलाकों में लोगों को पेश आ रही परेशानियों के बारे में भी जानकारी ली गई। अन्य यूनिटों की मेडिकल टीमें भी इसी तरह से काम कर रही हैं।

सेना की सोलह कोर ने अप्रैल माह में कोरोना से उपजे हालात में अपनी मेडिकल टीमों को अलर्ट कर दिया था। अब तक ऐसे सौ से ज्यादा कार्यक्रम हो चुके हैं। सैन्य यूनिटें अपने अपने क्षेत्राधिकार में मेडिकल टीमें भेजकर लोगों को बचाव के साथ यह भी बात रही हैं हैं कि संक्रमण के लक्षण दिखने पर उन्हें क्या कार्रवाई करनी है।