जागरण संवाददाता, जम्मू : भारत-पाकिस्तान के बीच बंटवारे से पहले के जम्मू रेलवे स्टेशन का मेयर चंद्रमोहन गुप्ता ने दौरा किया। यह रेलवे स्टेशन भारत पाक विभाजन के बाद बंद हो गया था। पहले बिक्रम चौक पर स्थित इस रेलवे स्टेशन से पाकिस्तान में सियालकोट तक ट्रेन आती-जाती थी। इससे जम्मू और सियालकोट के बीच अच्छा-खासा कारोबार भी होता था।

इस ऐतिहासिक रेलवे स्टेशन के दौरे पर पहुंचे मेयर के साथ अर्बन एनवायरमेंट इंजीनियरिग डिपार्टमेंट के इंजीनियर राकेश कुमार गुप्ता के अलावा अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे मेयर ने संबंधित विभागों के अधिकारियों से इस ऐतिहासिक रेलवे स्टेशन के जीर्णाेद्धार की डीपीआर तैयार करने के निर्देश भी दिए।

जम्मू के बिक्रम चौक के पास स्थित इस रेलवे स्टेशन से वर्ष 1947 तक जम्मू से लेकर मौजूदा पाकिस्तान के सियालकोट के बीच ट्रेन चला करती थी जो जम्मू के मीरां साहिब, आरएसपुरा, सुचेतगढ़ से होते हुए पाकिस्तान जाया करती थी। युवा पीढ़ी को मिलेगी इतिहास की जानकारी मेयर ने स्टेशन का दौरा करने के बाद बताया कि वहां पर अभी तक पुराने शेड, रेलवे क्वार्टर, रेलवे ट्रेक, शेड पानी के टैंक आदि मौजूद हैं जिनका जीर्णाेद्धार कर उन्हें पुराने रूप में लाया जाएगा।

उन्होंने इस स्थल को ऐतिहासिक स्थल बनाने की जानकारी देते हुए कहा कि इससे युवा पीढ़ी को अपने पुराने इतिहास बारे भी जानकारी मिलेगी।

वहीं, इंजीनियर राकेश गुप्ता ने बताया कि इस स्टेशन को पुराने रूप में लाने के अलावा यहां पर रेलवे म्यूजियम व कैफे भी बनाया जाएगा ताकि पर्यटकों को इस ओर आकर्षित किया जा सके। इसके अलावा इस पुराने रेलवे स्टेशन के इतिहास बारे भी जानकारी यहां से मिलेगी।