राज्य ब्यूरो, श्रीनगर।  पिछले कुछ दिनों से शांत कश्मीर में ईद के मौके पर जमकर बवाल हुआ। नमाज पढ़ कर लौट रहे एक पुलिसकर्मी के अलावा एक भाजपा कार्यकर्ता की भी हत्या कर दी गई। उपद्रवियों ने पाकिस्तान व आईएसआईएस के झंडे लहराए, पत्थरबाजी की। साथ ही श्रीनगर के हजरत बल मस्जिद में नेकां के प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई। उन पर जूते फेंके गए। ज्ञात हो कि अब्दुल्ला ने दिल्ली में अटलजी के श्रद्धांजलि समारोह में 'भारत माता की जय' का नारा लगाया था, इसके विरोध में उनसे बदसलूकी की गई। उन्हें मस्जिद से लौटना पड़ा। लेकिन फारूक ने कहा है कि ऐसी हरकतों से वे डरने वाले नहीं हैं।

फारूक को वापस जाने को कहा
हजरतबल मस्जिद में फारूक अब्दुल्ला नारेबाजी के बीच भी चुपचाप बैठे रहे। इमाम ईद की नमाज शुरू करते इससे पहले दर्जनों युवा उन्हें वापस जाने को कहते रहे। नमाज का कार्यक्रम अस्त-व्यस्त हो गया। मजबूर होकर पूर्व मुख्यमंत्री को वहां से लौटना पड़ा।

'भारत माता की जय बोलने से कोई नहीं रोक सकता' 
बाद में मीडिया से चर्चा में फारूक अब्दुल्ला ने कहा- 'अगर सिरफिरे लोगों को लगता है कि फारूक डर जाएगा तो यह उनकी गलती है। मुझे 'भारत माता की जय' बोलने से कोई नहीं रोक सकता। मैं डरा नहीं हूं। प्रदर्शनकारियों के इस रवैये से मुझे फर्क नहीं पड़ता। भारत आगे जा रहा है और कश्मीर को भी अपने पैरों पर खड़ा होना होगा। उन्हें अगर ऐसा करना था तो दूसरा वक्त चुनते। नमाज के वक्त ऐसा करना सही नहीं था।' 

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि अब भारत-पाक के बीच शांतिपूर्ण बातचीत का वक्त आ गया है। नफरतों से बाहर निकलने की जरूरत है। यह देश हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई और और यहां रहने वाले लोगों का है। अगर ये समझते हैं कि ऐसे आजादी आएगी तो मैं इनको कहना चाहता हूं कि पहले बेरोजगारी, बीमारी और भुखमरी से आजादी पाओ।

सेना के जवानों पर पत्थरबाजी
ईद के मौके पर श्रीनगर, कुलगाम, अनंतनाग समेत घाटी के कई शहरों में अलगाववादियों ने खूब बवाल मचाया। नमाज के बाद उपद्रवियों ने सेना के वाहनों पर पत्थर फेंके। इस दौरान वे पाकिस्तान और आईएसआईएस का झंडा लहराते हुए 'पाक जिंदाबाद' के नारे भी लगा रहे थे। सेना को उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल करना पड़ा।

नमाज अदा कर लौट रहे पुलिसकर्मी फयाज की हत्या
उपद्रवी इतने हिंसक हो गए कि उन्होंने नमाज अदा कर लौट रहे पुलिसकर्मी फयाज अहमद शाह की उनके घर के पास गोली मारकर हत्या कर दी। वह पुलिस में भर्ती के बाद प्रशिक्षण ले रहे थे। ईद मनाने घर आए थे।

भाजपा कार्यकर्ता शबीर  को भी गोली मारी
आतंकियों ने मंगलवार रात पुलवामा से अगवा भाजपा कार्यकर्ता शबीर अहमद बट की भी गोली मार कर हत्या कर दी। उसका शव कुपवाड़ा में एक खेत से मिला। बट को सशस्त्र सुरक्षाकर्मी प्रदान किए गए थे।
शाह ने की हत्या की निंदा : भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कश्मीर में भाजपा कार्यकर्ता शबीर की हत्या की कड़ी निंदा की है। 

Posted By: Sachin Mishra