श्रीनगर, राज्य ब्यूरो: राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने सोमवार को एकीकृत मुख्यालय की बैठक में जम्मू कश्मीर के मौजूदा आतंरिक और बाहरी सुरक्षा परिदृश्य का जायजा लिया। उन्होंने सभी सुरक्षा एजेंसियों को आपस में पूरा समन्वय बनाए रखते हुए राष्ट्रविरोधी तत्वों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के साथ आम नागरिकों के लिए शांति, सुरक्षा और विश्वास का वातावरण सुनिश्चित बनाने के लिए समुचित कदम उठाने का निर्देश दिया।

प्रदेश सरकार या राष्ट्रपति कार्यालय की तरफ से एकीकृत मुख्यालय की बैठक में उनके भाग लेने संबंधी कोई अधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है, लेकिन सूत्रों ने बताया कि यह बैठक शाम पांच से छह बजे तक जारी रही। इसमें उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के अलावा सेना के वरिष्ठ अधिकारी, जम्मू कश्मीर पुलिस महानिदेशक, पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी, जम्मू कश्मीर के मुख्यसचिव, केंद्रीय अर्धसैनिकबल और केंद्रीय खुफिया एजेंसियों के प्रमुख अधिकारियों ने भाग लिया। राष्ट्रपति ने सभी संबंधित अधिकारियों से उनके कार्याधिकार क्षेत्र से जुड़ी गतिविधियों का फीडबैक प्राप्त किया। उन्होंने जम्मू कश्मीर के भीतरी हिस्सों में जारी आतंकरोधी अभियान, गुमराह युवकों की वापसी, आपरेशन सदभावना, एलओसी पर संघर्ष विराम की पुनर्बहाली के बाद की स्थिति, सरहद पार आतंकी ढांचा संबंधी मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने जम्मू कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम के बहाल होने के बाद के हालात पर भी चर्चा की।

सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रपति ने आतंकवाद पर काबू पाने और अलगाववादियों व दुश्मन मुल्क के नापाक इरादों को नाकाम बनाने के लिए सभी सुरक्षा एजेंसियों को सराहा। उन्होंने कहा कि हमें जम्मू कश्मीर को पूरी तरह शांत, सुरक्षित और समृद्ध बनाना है। इसके लिए सभी आवश्यक उपाय लागू किए जाएं। आम लोगों को शांति, सुरक्षा और विश्वास का वातावरण प्रदान करते हुए राष्ट्रविरेधी तत्वों के खिलाफ सभी आवश्यक कदम उठाए जाएं। सूत्रों के अनुसार, मंगलवार शाम राष्ट्रपति चिनार कोर मुख्यालय में सैन्य अधिकारियों व जवानों को भी संबोधित करेंगे। चार दिवसीय दौरे पर आए राष्ट्रपति बुधवार सुबह दिल्ली लौटेंगे।

कश्मीर विवि के मेधावियों को आज मिलेंगे पदक

कश्मीर विश्वविद्यालय मंगलवार को होने वाले 19वें दीक्षांत समारोह के लिए तैयार है। समारोह शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कनवेंशन सेंटर (एसकेआइसीसी) श्रीनगर में होगा। इसमें राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द मुख्य अतिथि होंगे। समारोह में 84 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल से नवाजा जाएगा। विद्यार्थियों के सोमवार दोपहर को मुख्य कैंपस के गांधी भवन में कोरोना टेस्ट हुए। कुछ विद्यार्थी कोविड टेस्ट करवाने के लिए नहीं पहुंचे। उनको अब मंगलवार सुबह सात बजे मुख्य कैंपस में रिपोर्ट करनी होगी। विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रो. तलत अहमद का कहना है कि समारोह की सारी तैयारियां कर ली गई हैं। यह सुनिश्चित बनाया है कि समारोह में भाग लेने वाले हर एक का टेस्ट सुनिश्चित हो। हमने कोरोना की रोकथाम के लिए जारी दिशा निर्देशों का पालन किया है। चूंकि विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह करीब नौ साल बाद हो रहा है तो विद्यार्थियों में भारी उत्साह है। 

Edited By: Rahul Sharma