श्रीनगर, जेएनएन। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के करीबी सहयोगी और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के वरिष्ठ नेता मुजफ्फर हुसैन बेग पद्म भूषण सम्मान मिलने के बाद हिन्दुस्तान के रंग में रगे बेग ने पत्रकारों के समक्ष बहुत बड़ा बयान देते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और इसे कोई भी अलग नहीं कर सकता। उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री मंत्री इमरान खान और अमेरिकी राष्ट्रपति डानल्ड ट्रंप के बयानों का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने भी भारत सरकार से जम्मू-कश्मीर के लिए स्वायत्ता की मांग की है। इससे यह जाहिर होता है कि वे भी मानते हैं कि जम्मू-कश्मीर भारत का ही हिस्सा है।

गणतंत्र दिवस के मौके पर गांधी नगर स्थित पार्टी मुख्यालय में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए बेग ने यह बात भी कही कि जम्मू-कश्मीर में कभी भी जनमत संग्रह नहीं हो सकता। हालांकि उन्होंने केंद्र के समक्ष यह बात भी रखी कि वह केवल यही चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर को वे सभी अधिकार मिलने चाहिएं जो भारत का संविधान उन्हें देता है।

इसी बीच केंद्र सरकार द्वारा उन्हें मिले पद्म भूषण सम्मान के लिए बेग ने कहा कि यह सममान मुझे नहीं मिला बल्कि जम्मू-कश्मीर के लोगों को मिला है। उन्होंने इस दौरान लोगों से कड़े संघर्ष के बाद मिली इस स्वतंत्रता को बनाए रखने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि देश ने यह आजादी खून बहाकर पाइ है। इसीलिए प्रत्येक नागरिक का यह कर्तव्य है कि वह समाज और देश के कल्याण के लिए काम करे।

सनद रहे कि पीडीपी नेता जम्मू और कश्मीर के उपमुख्यमंत्री रह चुके हैं। बेग ने मुफ्ती मोहम्मद सईद के साथ मिलकर पीडीपी की स्थापना की थी। यही नहीं कश्मीर के जिला बारामुला के रहने वाले मुजफ्फर हुसैन बेग वकील है और बारामूला निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा के लिए चुने गए थे।

Posted By: Rahul Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस